छत्तीसगढ़

राष्ट्रीय पल्स पोलियो अभियान : राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष साहू ने नौनिहाल बच्चों को पोलियो की दवा पिलाई

मुंगेली : राष्ट्रीय पल्स पोलियो अभियान : राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष साहू ने किया नौनिहाल बच्चों को पोलियो की दवा पिलाकर जिला स्तरीय पल्स पोलियो अभियान का शुभारंभ

मुंगेली 31 जनवरी 2021 : छत्तीसगढ़ राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष थानेश्वर साहू ने राष्ट्रीय पल्स पोलियों अभियान के तहत दो बूंद हर बार पोलयों पर जीत रहे बरकरार को दृष्टिगत रखते हुए आज सुबह जिला मुख्यालय स्थित खण्ड चिकित्सा अधिकारी कार्यालय के प्रांगण में नौनिहाल बच्चों पूरब सिंह,अखिल पाण्डेय, कु. नब्या देवांगन, कु. यामनी सोनकर, कु. ज्ञानोदिता सोनकर,बिराज यादव, कु. धनुजा यादव और यज्ञ कुमार साहू को पोलियो ड्राप पिलाकर जिला स्तरीय पल्स पोलियो अभियान का शुभारंभ किया।

इस अवसर पर उन्होनें नवजात बच्चों के साथ पल्स पोलियो ड्राप पिलाने हेतु उपस्थित महिलाओं और अभिभावकों का स्वागत करते हुए उनका उत्साहवर्धन किया। उन्होनें जिले के नागरिकों से शून्य से 5 वर्ष आयु तक के प्रत्येक बच्चों को पोलियो ड्राप पिलाने की भी समझाईश दी।

इस अवसर पर जिला पंचायत के अध्यक्ष लेखनी सोनू चन्द्राकर, नगरपालिका मुंगेली के अध्यक्ष संतू सोनकर, जिला पंचायत के उपाध्यक्ष संजीत बनर्जी, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी रोहित व्यास, प्रतिष्ठित नागरिक राकेश पात्रे, नगरपालिका मुंगेली के पार्षद हेमेन्द्र गोस्वामी, मुख्य चिकित्सा एवम स्वास्थ्य अधिकारी डाॅं. महादेव तेदवें, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ कमलेश खैरवार और राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के जिला कार्यक्रम प्रबंधक उत्कर्ष तिवारी भी मौजूद थे।

पल्स पोलियो की खुराक

उल्लेखनीय है कि जिले में शून्य से पांच वर्ष तक के बच्चों को पल्स पोलियो की खुराक पिलाने के लिए 810 बूथ, 04 ट्रांजिस्ट टीम और 02 मोबाइल टीम का गठन किया गया है। जिले के 1 लाख 15 हजार से अधिक बच्चों को पल्स पोलियो ड्राप पिलाई जाएगी। जहाँ 1 हजार 620 दलकर्मी कार्य कर रहे हैं। इस अभियान के सतत निगरानी के लिए कलेकटर पी.एस. एल्मा के निर्देश पर जिला एवं विकासखण्ड स्तर पर माॅनिटरिंग दल का गठन किया गया है। इन दलों द्वारा आज बूथ लेबल पर तथा बूथ लेबल पर छूटे हुए बच्चों को 1 एवं 2 फरवरी को घर-घर भ्रमण कर पल्स पोलियो की दवा पिलायी जायेगी।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button