आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस फॉर यूथ, छत्तीसगढ़ के 9 छात्रों का राष्ट्रीय स्तर पर चयन

सीएम बघेल और स्कूल शिक्षा मंत्री ने दी बधाई

रायपुर। स्वामी विवेकानंद की जयंती ‘युवा दिवस’ के अवसर पर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) फाॅर यूथ प्रोग्राम के फेस-2 के लिए छत्तीसगढ़ के 9 छात्रों का चयन हुआ है। इसमें सर्वाधिक महासमुंद जिले के एक ही स्कूल शासकीय कुलदीप निगम उच्चतर माध्यमिक विद्यालय नर्रा, विकासखंड-बागबाहरा के 7 छात्र चयनित हुए हैं। शासकीय गल्र्स हायर सेकेंडरी स्कूल रायपुर और शासकीय स्कूल बेमेतरा के एक-एक विद्यार्थी का चयन किया गया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और स्कूल शिक्षा मंत्री डाॅ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने चयनित विद्यार्थियों और शिक्षकों को बधाई दी है। मुख्यमंत्री ने राज्य के विद्यार्थियों और शिक्षकों से विज्ञान और तकनीक के क्षेत्र में छत्तीसगढ़ का नाम रोशन करने के लिए सतत प्रयत्नशील रहने का आव्हान किया है।

भारत सरकार के इलेक्ट्राॅनिक और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय तथा विश्व की प्रसिद्ध साफ्टवेयर कंपनी इंटेल के सहयोग से आयोजित कार्यक्रम ‘एआई फाॅर यूथ’ में देश के केवल शासकीय स्कूलों के छात्रों को नवीनतम आर्टिफिशियल तकनीक से रूबरू कराने और उनके द्वारा समाज की समस्याओं का आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से समाधान ढूंढने के लिए यह कार्यक्रम चलाया जा रहा है। युवा दिवस के अवसर पर देश भर से प्राप्त कुल आइडियाज में से युवा दिवस के अवसर पर विभाग के एमडी और मुख्य कार्यपालन अधिकारी अभिषेक सिंह ने फेस-2 के लिए टाॅप-100 छात्रों के परिणाम जारी किए।

स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारी ने बताया कि जून महीने में लाॅकडाउन के समय जब स्कूल बंद थे, तब राज्य के हजारों बच्चों ने इस कार्यक्रम के लिए अपना पंजीयन कराया और ऑनलाइन प्रशिक्षण प्राप्त किया। प्रशिक्षण इंटेल विशेषज्ञ इंजीनियर द्वारा दिया गया, जिसके बाद चयनित छात्रों से प्राॅब्लम साॅल्विंग आइडियाज आमंत्रित किए गए।

छत्तीसगढ़ के चयनित छात्रों में शासकीय कुलदीप निगम उच्चतर माध्यमिक विद्यालय नर्रा के वैभव देवांगन, धीरज यादव, घनश्याम निषाद, यमुना यादव, हिमांशी देवांगन, परमेश्वरी यादव और गोपिका देवांगन शामिल है। इसके अलावा शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय लेंजवारा जिला बेमेतरा की छात्रा अंजलि निर्मलकर और शासकीय गल्र्स हायर सेकेंडरी स्कूल रायपुर की छात्रा अंकिता नामदेव का भी चयन हुआ है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button