राष्ट्रीय

उड़ी के बाद आर्मी कैंप पर दूसरा सबसे बड़ा आतंकी हमला: 5 जवान शहीद, जैश के 4 आतंकी ढेर

जम्मू-कश्मीर में सुंजवां आर्मी कैंप को आतंकियों ने निशाना बनाया है। शनिवार सुबह पांच बजे करीब शुरू हुए इस आतंकी हमले में अबतक पांच जवान शहीद हो गए हैं।

जम्मू कश्मीर के सुंजवां आर्मी कैंप में घुसे आतंकियों के खिलाफ सेना का ऑपरेशन अब भी जारी है। अब तक सुरक्षा बलों ने चार आतंकियों को मार गिराया है, जबकि पांच शहीद हो गए हैं। वहीं एक आम नागरिक को भी अपनी जान गंवानी पड़ी है। आतंकियों को मार गिराने के लिए शनिवार सुबह सेना का ऑपरेशन शुरू हुआ था। फिलहाल सुंजवां आर्मी कैंप में एक से दो और आतंकियों के छिपे होने की आशंका जताई जा रही है। इस बीच आर्मी चीफ बिपिन रावत भी जम्मू-कश्मीर पहुंच गए हैं और उनकी अगुवाई में सुरक्षा बल आतंकियों को मुंहतोड़ जवाब देने में जुटे हुए हैं।

[responsivevoice_button voice=”Hindi Female” buttontext=”अगर आप पढ़ना नहीं चाहते तो क्लिक करे और सुने”]

जम्मू-कश्मीर में सुंजवां आर्मी कैंप को आतंकियों ने निशाना बनाया है। शनिवार सुबह पांच बजे करीब शुरू हुए इस आतंकी हमले में अबतक पांच जवान शहीद हो गए हैं, जबकि कुछ अन्य के घायल होने की खबर है। इनमें से 2 की हालत गंभीर बताई जा रही है। हमले में सेना के जवान की बेटी भी घायल हो गई है। हमले में एक नागरिक की मौत भी हो गई है।

लगातार दूसरे दिन भी आर्मी चीफ की निगरानी में सेना का ऑपरेशन जारी है। साल 2016 में उरी आतंकी हमले के बाद यह दूसरा बड़ा हमला है। अब तक जैश के चार आतंकियों को मार गिराया गया है, लेकिन आशंका जताई जा रही है कि अब भी एक या दो आतंकी शिविर के अंदर मौजूद हैं। इस बीच गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि है कि ऑपरेशन अब भी जारी है। मुझे लगता है कि इस पर टिप्पणी करने का अधिकार नहीं है, जबकि ऑपरेशन चल रहा है। हमे यकीन है हमारे जवान सफलतापूर्वक इस ऑपरेशन को अंजाम देंगे।

कांग्रेस को निशाने पर लेते हुए केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा, ‘पूरे राष्ट्र को हमारी सुरक्षा बलों के पीछे एकजुट होकर खड़े होना चाहिए, उन्हें प्रोत्साहित करना चाहिए। दुर्भाग्यपूर्ण है कि कांग्रेस के नेता इस तरह की त्रासदी को राजनीति से जोड़ते हैं। हमारी सेना के लोगों के खून और पसीने पर राजनीति करने के लिए उनकी कड़ी निंदा करते हैं।’

पाकिस्तान को निशाने पर लेते हुए जम्मू-कश्मीर के डिप्टी सीएम निर्मल सिंह ने कहा, ‘यह निंदनीय हरकत है। ये हमला पाकिस्तान की कायरता को दर्शाता है जो सीधे तौर पर भारत का सामना नहीं कर सकता और मासूम नागरिकों पर हमला करने के लिए अपने लोगों (आतंकियों) को भेजता है। आर्मी कैंप के अंदर सेना के परिवार के क्वार्टर हैं, इसलिए सेना क्षेत्र को घेरने में सावधानी बरत रही है।

Tags
Back to top button