ध्रुव गोंड़ समाज का राष्ट्रीय कार्यशाला सम्पन्न…

युवाओं में भारी उत्साह देखने को मिला, अन्य प्रान्तों एवं अन्य जिलों से आये थे…
रायपुर की सत्यभामा ध्रुव को महिला प्रभाग की केन्दीय उपाध्यक्ष बनाये जाने पर सम्मानित किया गया.
राजनांदगांव/दुर्ग। ध्रुव गोंड़ समाज का दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला दिनांक 26 मई 2019 को ठाकुरदेव कंचाना धुरूवा देवालय में सम्पन्न हुआ। जिसमें महासाष्ट्र, उड़ीसा के अलावा छत्तीसगढ़ के डेढ़ दर्जन जिले के पदाधिकारियों एवं प्रबुद्धों ने प्रतिनिधित्व किया।

केन्द्रीय गोंड़वाना महासभा के राष्ट्रीय प्रवक्ता विष्णुदेव सिंह ठाकुर ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से उक्त बताया- धमधागढ महासभा़ से सम्बद्ध सभी महासभाओं का प्रथम बार आयोजित कार्यशाला में समाजिक विशेषज्ञों द्वारा प्रमुख विषयों पर अपना-अपना व्यख्याान दिये, जिसमें सर्वप्रथम धमधागढ़ के केन्द्रीय अध्यक्ष श्री एम.डी. ठाकुर ने गोंड़वाना का इतिहास, धमधागढ़ का इतिहास, राज व्यवस्था एवं समाजिक व्यवस्था, देश की आजादी में गोंड़ों का योगदान पर बहुत बढ़िया व्याख्यान दिये, महासभा के राष्ट्रीय प्रवक्ता विष्णुदेव सिंह ठाकुर ने – अपने व्याख्यान में गोंड़ और गोंड़वाना क्या है, गोंड़वाना संस्कृति, गोत्र व्यवस्था के संचालन तथा गोंड़ समाज के पारम्परिक रीति-नीति का प्राकृतिक एवं सांईस्टिफिक ढंग से व्याख्या कर गोंड़ और आदिवासी समाज को नया ज्ञान दिया, प्रोफेसर डाॅ. श्रीमती यशेश्वरी ध्रुव ने सामाजिक कार्यों एवं संगठनों में महिलाओं को योगदान के बारे में व्याख्यान दिये, व्याख्याता थानू ध्रुव ने सामाजिक संगठनों में युवाओं के विमुखता का कारण और समाधान तथा समाजिक कार्यों एवं संगठनों में युवाआंे की सहभागिता और योगदान के सम्बन्ध में बताया, सेवानिवृत्त अपर कलेक्टर श्री शोरी साहब ने- भारत के संविधान की पांचवीं एवं छठवीं अनुसूची, तथा जल, जंगल, जमीन और पेसा एक्ट के बारे में अच्छे ढंग से बताया, और अन्त में केन्द्रीय अध्यक्ष एम.डी. ठाकुर साहब ने सभी अलग- अलग क्षेत्रों में समाज प्रमुखो ंको मंच पर आमंत्रित कर परम्राओं, नेंग-दस्तूर के विषमताओं को समाप्त कर सभी पदाधिकारियों के प्रस्ताव और सहमति पर परम्राओं नेंग- दस्तूरों का एकीकरण प्रस्ताव पारित कर लागू किया गया। कार्यशाला में उपस्थित पदाधिकारियों के बीच रायपुर की सत्यभामा ध्रुव को केन्दीय उपाध्यक्ष बनाये जाने पर सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर विभिन्न प्रान्तों के समाज प्रमुखों में सर्वश्री इन्दल अरकरा महासरष्ट्र, शम्भू चरण मांझी उड़ीसा, तथा विभिन्न जिलों के समाज प्रमुखों में गरियाबंद- पूनाराम ध्रुव, नीलसिंह मरकाम, मुंगेली- दिनेश शाह उईके, लेखराम नेताम, कवर्धा- ओमसिंह उईके, रायपुर- बी.आर.ठाकुर, शोभाराम पडोटी, सत्यभामा ध्रुव, राजनांदगांव- नीलकंठ गढ़े, मदन नेताम, शेरसिंह परतेती, रधुवीर सेवता, नन्दलाल खुशरो, सन्तकुमार नेताम, कामता प्रसाद कोर्राम,साधूराम छैदईया, बेमेतरा- राजकुमार ठाकुर, उमेश ध्रुव, महासमुन्द- लखन ध्रुव, हीरामन ध्रुव, कांकेर- आसकरण मरई, बलौदाबाजार- थानू ध्रुव, जनकराम ध्रुव,संग्राम सिंह, राजकुमार नेताम, दुर्ग, भिलाई- सीताराम ठाकुर, दरबारसिंह नेताम, ऐनकसिंह ध्रुव, पुरानिक उईके, चन्द्रभानसिंह मण्डावी, श्रीमती शीलासिंह मण्डावी, श्रीमती उषा मण्डावी, श्रीमती उषा ठाकुर, श्रीमती लता ठाकुर, कु. लता नेताम के अलावा कई समाजिक पदाधिकारी एवं प्रबुद्धजनों की अच्छी उपस्थिति थी।

Back to top button