‘ऑपरेशन मदद’ में नौसेना के जवानों ने 16,005 लोगों को बचाया

आठ अगस्त से बाढ़ से जुड़ी घटनाओं में 231 लोगों की जान गई है

कोच्चि: दक्षिणी नौसेना कमांड ने बाढ़ प्रभावित केरल में आज 14 दिन का अपना बचाव अभियान बंद कर दिया है. नौसेना के कमांडो का कहना है कि प्रभावित इलाकों में पानी घटने के कारण लोगों को निकालने के लिए और कोई अनुरोध सामने नहीं आया है।

इसमें बताया गया है कि राज्य प्रशासन और आपदा राहत अभियान उपक्रमों में सहायता के लिए नौ अगस्त को शुरू किये गए ‘ऑपरेशन मदद’ के दौरान नौसेना के जवानों ने कुल 16,005 लोगों को बचाया।

रक्षा विज्ञप्ति में बताया गया है, ‘बाढ़ का पानी घटने और बचाव के लिए कोई और अनुरोध प्राप्त नहीं होने के कारण दक्षिणी नौसेना कमान ने ऑपरेशन मदद के लिए तैनात सभी बचाव टीमों को वापस बुला लिया है।’

आपदा प्रबंधन राज्य नियंत्रण कक्ष के मुताबिक, आठ अगस्त से बाढ़ से जुड़ी घटनाओं में 231 लोगों की जान गई है और 32 लोग लापता हैं। पूरे राज्य में 3,879 राहत शिविरों में 3.91 लाख परिवारों के करीब 14.50 लाख लोग अभी भी रह रहे हैं।

नौसेना के अलावा थल सेना, वायु सेना और तटरक्षक बल भी नागरिक प्रशासन के साथ राहत एवं बचाव अभियानों में शामिल था। थलसेना के दक्षिणी कमान के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल डी आर सोनी ने सोमवार को कहा था कि जब तक बाढ़ प्रभावित केरल में स्थिति स्थिर नहीं हो जाती है तब तक हमारे जवान लगातार बचाव अभियान चलाते रहेंगे।

Back to top button