रेल हादसा मामले में नवजोत सिंह सिद्धू बोले, तेज गति से आई ट्रेन ने नहीं दिया हॉर्न

राज्य सरकार ने जांच के दिए आदेश

जालंधर :

अमृतसर में हुए रेल हादसे के बाद पंजाब के स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू घायलों से मिलने अस्पताल पहुंचा। जहां एक ओर दुर्घटना के बाद मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी घटना स्थल से चली गई। वहीं स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने शनिवार को कहा कि अमृतसर में हुई रेल दुर्घटना एक हादसा है लेकिन इसमें कही न कहीं लापरवाही भी नजर आ रही है और राज्य सरकार ने जांच के आदेश दे दिए हैं।

सिद्धू ने शनिवार सुबह सिविल तथा अन्य निजी अस्पतालों में दाखिल घायलों का हाल जानने के बाद कहा कि घटना इतनी अचानक हुई कि किसी को कुछ भी पता नहीं चला। उन्होंने कहा कि यह घटना तेज गति से आई ट्रेन के चलते यह घटना मिनटों के अंदर हुई। ट्रेन ने हॉर्न नहीं दिया।

उन्होंने बताया कि वह चार पांच अस्पतालों में घायलों से मिल कर आए हैं जिन्होंने बताया कि कुछ लोग रेल पटरी पर खड़े थे तथा कुछ पास ही खड़े थे। घायलों ने बताया कि रावण दहन के दौरान जल रहे पुतले से बचने के लिए लोग दो कदम ही पीछे हटे थे कि तेजी से आ रही रेलगाड़ी ने उन्हें कुचल दिया। रेल की रफ्तार इतनी तेज थी कि कुछ ही सैकेंड में ही इतना बड़ा हादसा हो गया।

Back to top button