द्विपक्षीय रक्षा संबंधों को मजबूत करने ओमान पहुंचे नौ सेनाध्यक्ष

नौ सेनाध्यक्ष एडमिरल करमबीर सिंह तीन दिवसीय आधिकारिक यात्रा पर ओमान पहुंच गए हैं। उनके दौरे का उद्देश्य ओमान के साथ द्विपक्षीय रक्षा संबंधों को मजबूत करना और रक्षा सहयोग के लिए नए रास्ते तलाशना है। वह सीएनएस मस्कट में रॉयल नेवी ऑफ ओमान (आरएनओ) के कमांडर रियर एडमिरल सैफ बिन नासिर बिन मोहसेन अल-रहबी के साथ द्विपक्षीय चर्चा भी करेंगे।

इन हस्तियों से करेंगे मुलाकात

यात्रा के दौरान नौ सेनाध्यक्ष सुल्तान के सशस्त्र बलों के चीफ ऑफ स्टाफ अब्दुल्ला खमिस अब्दुल्ला अल रायसी, ओमान की शाही सेना के कमांडर मेजर जनरल मटर बिन सलीम बिन राशिद अल बलुशी, ओमान की रॉयल एयर फोर्स के कमांडर एयर वाइस मार्शल खमिस बिन हम्माद बिन सुल्तान अल गफरी और रक्षा मंत्रालय के महासचिव डॉ. मोहम्मद बिन नासिर बिन अली अल जाबी सहित ओमान के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बातचीत करेंगे। वह मुस्कर अल मुर्तफा (एमएएम) कैंप, मैरीटाइम सिक्योरिटी सेंटर (एमएससी), सैद बिन सुल्तान नेवल बेस, अल मुसाना एयर बेस और नेशनल डिफेंस कॉलेज जैसे प्रमुख रक्षा प्रतिष्ठानों का भी दौरा करेंगे।

भारतीय नौसेना और ओमान की रॉयल नेवी के बीच बढ़ेगा विश्वास

भारतीय नौसेना कई मोर्चों पर ओमान की रॉयल नेवी के साथ सहयोग करती है, जिसमें परिचालन बातचीत, प्रशिक्षण सहयोग और विभिन्न क्षेत्रों में विषय विशेषज्ञों का आदान-प्रदान शामिल है। दोनों नौसेनाएं 1993 से द्विवार्षिक समुद्री अभ्यास नसीम अल बहर में भाग ले रही हैं। यह अभ्यास आखिरी बार 2020 में गोवा में आयोजित किया गया था और अगला संस्करण 2022 में निर्धारित है। भारतीय नौ सेनाध्यक्ष एडमिरल करमबीर सिंह की यह ओमान यात्रा भारतीय नौसेना और ओमान की रॉयल नेवी के बीच बढ़ते सहयोग पर प्रकाश डालती है।

सहयोग के लिए नए क्षेत्रों की तलाश करेंगे तलाश

भारतीय नौसेना के प्रवक्ता कमांडर विवेक मधवाल ने बताया, ‘‘इस दौरे का मकसद ओमान के साथ द्विपक्षीय रक्षा संबंधों को मजबूत बनाना और सहयोग के लिए नए क्षेत्रों की तलाश करना है।’’ इसका उद्देश्य प्रभावशाली खाड़ी देश के साथ द्विपक्षीय सैन्य संबंधों को और विस्तार देना है। अधिकारियों ने बताया कि 27-29 सितंबर तक की इस यात्रा में सिंह खाड़ी देश के शीर्ष सैन्य अधिकारियों से बातचीत करेंगे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button