नक्सली नारों को रौंदकर 12 किमी पैदल चलकर वोट डालने पहुंच रहे ग्रामीण

सुकमा । बस्तर लोकसभा सीट के लिए गुरुवार को मतदान हो रहा हैं, जिसमें घोर नक्सल प्रभावित सुकमा जिले में सुबह से ग्रामीणों में उत्साह दिख रहा हैं। अंदरूनी नक्सल प्रभावित क्षेत्र में ग्रामीण करीब 12 किमी पैदल चलकर मतदान करने आ रहा हैं। यह इलाका पूरी तरह से नक्सल प्रभावित हैं।

नक्सली विरोध के चलते सुरक्षा कारणों से गोण्डेरास, गोंदपल्ली व पेरमापारा गांव के मतदान केंद्र को कोंड़रे गांव में शिफ्ट किया गया हैं। मतदान केंद्र में भारी सुरक्षाबल तैनात किया गया हैं। नक्सलियों ने इस इलाके में ग्रामीणों की बैठक लेकर उन्हें मतदान से दूर रहने के लिए कहा था।

साथ ही नक्सलियों ने इस इलाके की मुख्य सड़क पर जगह-जगह लोकसभा चुनाव के बहिष्कार करने की बात लिखी हैं, बैनर-पोस्टर चस्पा किए हैं। उसके बाद भी ग्रामीण नक्सली नारों व विरोध को धता बताते हुए करीब 12 किमी पैदल चलकर मतदान करने पहुंच रहे हैं।

पैदल चलकर वोट डालने कोंडरे पहुंच रहे ग्रामीणों का कहना है कि नक्सली वोट डालने के लिए मना करते हैं, फिर भी वो वोट डालने जा रहे हैं। उनसे पूछने पर कि नक्सली मनाही के बाद वोट डालने से डर नहीं लगता तो ग्रामीण कहते हैं वोट तो डालना पड़ेगा इससे उनकी लोकतंत्र प्रति आस्था साफ दिखाई देती हैं।

Back to top button