अगवा किए गए दो इंजीनियर और एक मुंशी को नक्सलियों ने छोड़ा

फिलहाज डीआरजी की टीम मौके पर रवाना हुई

दंतेवाड़ा: अगवा किए गए दो इंजीनियर और एक मुंशी को नक्सलियों ने छोड़ दिया है दोनों इंजीनियर सड़क निर्माण कार्य में लगे अरूण मरावी और टेक्निकल इंजीनियर मोहन बधेल हैं। नके साथ गुप्ता कंट्रक्शन कंपनी के मुंशी रविकांत सारथी को भी अगवा किया था।

इसके पहले शनिवार को एसपी अभिषेक पल्लव ने तीनों को रिहा करने की पुष्टि भी की थी। लेकिन देर रात फिर एसपी अभिषेक ने बताया कि नक्सलियों ने शाम 6 बजे करीब नक्सलियों ने तीनो को रिहा कर दिया था जिसके बाद वे कुछ चलकर अरनपुर पहुंचने वाले ही थे कि कुछ ही देर बाद माओवादियों ने फैसला बदला और अपहरित तीनों व्यक्तियों को फिर से रोक लिया।

सूत्रों का कहना नक्सलियों तीनों की रिहाई करने के बाद उन्हें यह कहकर दोबारा बंधक बना लिया था कि रात का समय है अंदरूनी इलाका है रास्ते में आईईडी बम वगैरह लगे हैं कहीं उसकी चपेट में न आ जाएं। इसलिए तीनों को सुबह रिहा करने की बात कहकर रात में अपने पास ही रोक लिया था।

नक्सलियों को गलत जानकारी दी

तीनों लोगों में दो सरकारी कर्मचारी है और एक ठेकेदार का आदमी है लेकिन उसने नक्सलियों को गलत जानकारी दी की वह भी सरकारी कर्मचारी है। जिसके बाद नक्सलियों ने नाराजगी जाहिर करते हुए उसकी पिटाई कर दी। माना जा रहा था बडे़ लीडर की मंजूरी के बाद ही उन्हें छोड़ा जाएगा।

सड़क निर्माण कार्य के निरीक्षण के लिए पहुंचे थे मुलेर मिली जानकारी के अनुसार यहां दो इंजीनियर और एक कंट्रक्शन कंपनी के मुंशी क्षेत्र में सड़क निर्माण के कार्य के लिए मुलेर गांव पहुंचे थे इसी दौरान नक्सली वहां पहुंचे और हथियार की नोक पर उन्हें अपने साथ ले गए।

अगवा की खबर के बाद प्रशसन में हड़कंप मच गया है। बताया जाता है कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के इंजीनियर अरूरण मरावी और मनरेगा के टेक्निकल असिस्टेंट मोहन बघेल एवं रविकांत सारथ्ज्ञी तीनों मुलेर ककाड़ी सड़क का निरीक्षण करने गए हुए थे। जहां तीनों को नक्सलियों ने अगवा लिया। सूत्रों के अनुसार सभी नक्सलियों ने नहाड़ी के जंगलों में रखा है।

पूर्व कलेक्टर का हुआ था अपहरण

गौरतलब है कि दंतेवाड़ा जिले के कुआकोंडा का अरनपुर-जगरगुंडा इलाके को नक्सलियों को उपराजधानी कहा जाता है। इसी इलाके से कुछ वर्ष पूर्व सुकमा के पूर्व कलेक्टर एलेक्स पाल मेनन का भी अपहरण किया गया था।

पुलिस को दे दी सूचना पीएमजीएसवाई के वरिष्ठ इंजीनियर संतोष नाग ने बतायाकि नक्सलियों द्वारा उनका अपहरण करने की सूचना मिली है। पुलिस को इसकी जानकारी दे गई है। अभी तक उनकी पतासाजी शुरू नहीं हुई है।

Back to top button