छत्तीसगढ़

दंतेवाड़ा में नक्सलियों का शहीद स्मारक ध्वस्त, तीन गिरफ्तार

रायपुर/दंतेवाड़ा : दंतेवाड़ा में माओवादियों के शहीदी सप्ताह पर सर्चिंग टीम के जवानों ने खलल डाली है। शनिवार को सर्चिंग टीम ने कुआकोंडा क्षेत्र में नक्सलियों का शहीद स्मारक ध्वस्त किया। वहीं 3 नक्सलियों को भी गिरफ्तार किया गया है। जबकि अन्य नक्सली ग्रामीणों की आड़ लेकर जंगल में भाग गए।

दंतेवाड़ा पुलिस अधीक्षक कमलोचन कश्यप ने बताया कि, नक्सलियों के शहीदी सप्ताह को ध्यान में रखते हुए सर्चिंग टीम रवाना हुई थी। टीम ने डीआरजी, सीआरपीएफ 195वीं बटालियन कैंप बड़ेगुडरा और थाना कुआकोंडा के जवान शामिल थे। ग्राम जियोकोरता, डोंगरीपारा में नक्सली ग्रमीणों को इकठ्ठा कर शहीदी सप्ताह मनाने की तैयारी कर रहे थे। टीम की दबिश में नक्सली ग्रामीणों की आड़ लेकर जंगल की ओर भाग गए। टीम ने नक्सलियों के शहीद स्मारक को तत्काल ध्वस्त किया।

वापस लौटा रही टीम पर नक्सलियों ने हमला भी किया। नक्सलियों ने आईईडी ब्लास्ट कर टीम को नुकसान पहुंचाना चाहा, लेकिन टीम के सभी जवान सुरक्षित है। नक्सलियों के शहीदी सप्ताह के अंतर्गत ही शुक्रवार को तीन नक्सली को गिरफ्तार किया गया। तीनों शहीदी सप्ताह मनाने की तैयारी कर रहे थे। ग्राम केशापुर निवासी मिरतुर एलओएस के जनमिलिशिया सदस्य आलोक कर्मा पिता लक्खू (25), बोटी कर्मा बिज्जा कर्मा (35) और मंगल ओयामी पिता लक्मू (45)शामिल है। तीनों को फरसपाल थाना पुलिस ने केशापुर से गिरफ्तार किया है। तीनों नक्सली 2 जनवरी 2016 की रात ग्राम मिड़कुलनार के पटेल मोतीराम भोगामी की हत्या में शामिल थे। दो वर्षों से नक्सली संगठन में जनमिलिशिया सदस्य के रूप में सक्रिय थे।

Back to top button