एनसीपी-बसपा के पार्षदों ने दिये भाजपा के मेयर पद के उम्मीदवार को समर्थन

कांग्रेस की विश्वसनीयता पर सवाल

नई दिल्ली। महाराष्ट्र में नेशनल कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के 18 और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के चार पार्षदों ने भाजपा के मेयर पद के उम्मीदवार को समर्थन दिया और बाबा साहब यहां मेयर चुने गए।

यहां कुल 68 पार्षद हैं जिनमे से भाजपा को सिर्फ 14 सीटों पर ही जीत मिली, बावजूद इसके बाबा साहब 37 पार्षदों के समर्थन से यहां के मेयर चुने गए। गौर करने वाली बात है कि यहां

गौर करने वाली बात यह है कि अहमदनगर में सबसे अधिक सीटें शिवसेना ने जीती थी, सेना के खाते में कुल 24 सीटें आई थी, बावजूद इसके भाजपा उम्मीदवार को मेयर का पद मिला है। प्रदेश कांग्रेस के मुखिया अशोक चव्हाण फिलहाल देश से बाहर हैं, ऐसे में पार्टी इस बारे में कुछ भी कहने से बच रही है।

गौरतलब है कि अहमदनगर के निकाय चुनाव में कांग्रेस को पांच सीटों पर जीत मिली थी लेकिन मेयर की वोटिंग के दौरान ये सभी पार्षद नदारद थे। सूत्रों की मानें तो एनसीपी के पार्षदों को आलाकमान की ओर से भाजपा उम्मीदवार को वोट देने की अनुमति मिली थी।

कांग्रेस पार्टी के पदाधिकारी का कहना है कि अगर एनसीपी अपने पार्षदों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करती है तो उनकी विश्वसनीयता पर सवाल खड़े होंगे। वहीं अहमदनगर के सियासी गठजोड़ पर उन्होंने कहा कि शिवसेना के पांच बार के विधायक अनिल राठौर को एनसीपी के संग्राम जगताप को 2014 में हराया था। संग्राम भाजपा विधायक शिवाजी कारदीले के दामाद हैं।

advt
Back to top button