थप्पड़बाज कलेक्टर के खिलाफ NCPCR ने मुख्य सचिव को लिखा पत्र

सूरजपुर SP को जांच कर FIR करने के दिए निर्देश

रायपुर। सूरजपुर में लॉकडाउन के दौरान कलेक्टर रणवीर शर्मा द्वारा युवक की पिटाई और मोबाइल तोड़ने वाले मामले में बच्चों के अधिकारों के लिए काम करने वाली केंद्रीय एजेंसी नेशनल कमीशन फ़ॉर प्रोटेक्शन ऑफ चाइल्ड राइट ने छत्तीसगढ़ के चीफ सेक्रेटरी को भेजा पत्र भेजकर मामले की जांच कर 7 दिन के भीरत कमीशन को रिपोर्ट भेजने कहा है।
पढ़ें- भारत में 1 दिन में 3.55 लाख से ज्यादा मरीज इलाज के

कमीशन ने सूरजपुर एसपी को भी पत्र लिखकर जांच करने कहा है । पत्र में कहा गया है कि किशोर के साथ मारपीट कर इस प्रकार की हिंसा करना गंभीर मामला है, एसपी इसकी जांच कराएं और रिपोर्ट के आधार पर कलेक्टर रणवीर शर्मा के खिलाफ एफआईआर दर्ज करें।

बता दें की सूरजपुर कलेक्टर रणवीर शर्मा द्वारा एक युवक के साथ मारपीट और मोबाइल छीन कर तोड़ने का वीडियो सामने आया है, यहां भी आरोप है की कलेक्टर ने एक नाबालिग के साथ मारपीट की है। वीडियो सामने आने के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर रणबीर शर्मा को मंत्रालय में अटैच कर दिया गया है। लेकिन इस मामले में अब केंद्रीय कमीशन ने भी संज्ञान लेकर रणबीर शर्मा के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने कहा है।

लॉकडाउन के दौरान युवक पर कलेक्टर की कार्रवाई का वीडियो वायरल होने के बाद एक के बाद एक जिम्मेदार अधिकारियों पर गाज गिर रही है। कलेक्टर को हटाए जाने के बाद अब मामले में शामिल कोतवाली टीआई बसंत खलखो को हटा दिया गया है और डीएल शुक्ला को प्रभार दिया गया है। बता दें कि वायरल वीडियो में टीआई बसंत खलखो युवक पर लाठी बरसाते हुए दिखाई दे रहे हैं। मामले में संज्ञान लेते हुए जिला एसपी राजेश कुकरेजा ने कार्रवाई की है।

बता दें कि इस मामले में सरकार ने तुरंत एक्शन लेते हुए रणवीर शर्मा को हटा दिया है और गौरव कुमार सिंह सूरजपुर को नया कलेक्टर बनाया गया है। वहीं, रणवीर सिंह को संयुक्त सचिव मंत्रालय स्थानांतरित किया गया है। राज्य सरकार ने आदेश जारी कर दिया है। छत्तीसगढ़ शासन ने भारतीय प्रशासनिक सेवा के दो अधिकारियोें की नवीन पदस्थापना आदेश जारी किया है। जिसके तहत रायपुर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी गौरव कुमार सिंह को सूरजपुर जिले का नया कलेक्टर पदस्थ किया गया हैं वहीं रणवीर शर्मा को कलेक्टर सूरजपुर से स्थानांतरित करते हुए तत्काल प्रभाव से मंत्रालय में संयुक्त सचिव(प्रतीक्षारत) के पद पर पदस्थ किया गया है।

दरअसल कलेक्टर रणबीर शर्मा खुद से एक बाइक सवार को रोककर बाहर निकलने का कारण पूछा और जवाब सुनने के दौरान ही उन्होंने उस लड़के का मोबाइल छीनकर सड़क पर पटक दिया और एक थप्पड़ जड़ दिया। जबकि लड़का बार बार ये कह रहा है कि वो जरूरी काम से घर से निकला था, लेकिन किसी ने उसकी एक नही सुनी।

वहीं, सूरजपुर कलेक्टर का युवक को थप्पड़ मारने वाला वीडियो सोशल मीडिया में ट्रेंड कर रहा है। यूजर्स ने इस घटना की कड़ी निंदा की है। इस मामले को IAS एसोसिएशन ने भी संज्ञान में लिया है। IAS एसोसिएशन ने ट्वीट कर कलेक्टर के व्यवहार की कड़े शब्दों में निंदा की है। IAS एसोसिएशन ने लिखा कि IAS एसोसिएशन कलेक्टर सूरजपुर, छग के व्यवहार की कड़ी निंदा करता है। कलेक्टर सूरजपुर का व्यहार अस्वीकार्य है। यह सेवा और सभ्यता के मूल सिद्धांतों के खिलाफ है। सिविल सेवकों को सहानुभूति रखनी चाहिए।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button