अभी आग बुझाने की जरूरत है न कि उसमें घी डालने की: फारूक अब्दुल्ला

चुनावी रैली को संबोधित करते हुए अब्दुल्ला ने कहा

श्रीनगर: कुलगाम जिले के देवसर में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए नेशनल कॉन्फ्रेंस प्रमुख फारूक अब्दुल्ला ने कहा, ‘‘ अभी आग बुझाने की जरूरत है न कि उसमें घी डालने की.’’ पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि कश्मीरी लोगों को कोई भी दबा नहीं सकता है. उन्होंने कहा, ‘‘ इतिहास इस बात का गवाह है कि कोई भी कश्मीरियों को गुलाम नहीं बना पाया.

उन्होंने कहा कि जो लोग अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35-ए को निरस्त करने के प्रयास में लगे हैं, वे आग से खेल रहे हैं. संविधान के ये दोनों अनुच्छेद जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को सुनिश्चित करते हैं. हमने मुगलों, पठानों और अन्य अत्याचारी शासनों के खिलाफ लड़ाई लड़ी और किसी को भी हमने खुद को दबाने नहीं दिया.

अब्दुल्ला ने कहा, ‘‘नई दिल्ली को हमारा आदर-सम्मान तब तक ही हासिल है जब तक वह इस राज्य के लोगों को आदर करेंगे . हमारे आत्म-सम्मान के साथ छेड़-छाड़ करने की किसी को भी इजाजत नहीं है क्योंकि कश्मीरी लोग हमेशा ईंट का जवाब पत्थर से देते हैं.

Back to top button