अनाप शनाप बिल और इलाज में लापरवाही बरतने वाले अस्पतालों की अब खैर नही – डॉ निर्वाणी

रायपुर : छोटी सी बीमारी, हजारो के टेस्ट आई सी यू में भर्ती और लाखों का बिल, यह राजधानी के मल्टी और सुपर मल्टी स्पेशलटी हॉस्पिटलों की रोजमर्रा की कहानी है. आम आदमी के लिए अस्पतालों में इलाज का खर्च आसमान छू रहा है. कई बार तो छोटी सी बीमारी जो ठीक हो सकती थी उसे निजी अस्पतालों में बिल बनाने के चक्कर मे इतना बिगाड़ दिया जाता है कि मरीज की मौत तक हो जाती है, और असंवेदनशील हो चुके अस्पताल प्रशासन मरीज के शव तक को बिल न मिलने तक बंधक के तौर पर रख लेते है. मानवता को शर्मशार करने वाली ये घटनाएं राजधानी रायपुर में आम होते जा रही है.

आम आदमी पार्टी के युवा इकाई ने इसके लिए एक पहल की है. मरीज के परिजन जांच की पूरी रिपोर्ट, दवाइयों के लिस्ट और बिल के साथ आप युवा चिकित्सा प्रकोष्ठ के सम्बंध चिकित्सको से निशुल्क सलाह ले सकेंगे, सेकेंड ओपिनियन ले सकेंगे. अनावश्यक रूप से लिखी गयी दवाइयों और टेस्ट के खिलाफ मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया में सभी रिपोर्ट और दस्तावेजो के साथ शिकायत की जाएगी, उपभोक्ता फोरम में वाद दायर किया जाएगा. युवा आप के प्रदेश अध्यक्ष डॉ सौरभ निर्वाणी ने राजधानी के सभी बड़े निजी अस्पतालों के प्रबंधकों को इस पर गंभीरता से ध्यान देने को पत्र लिखा है.

डॉक्टर को ईश्वर तुल्य समाज मे दी गयी मान्यता के उलट अब वे पूर्ण व्यवसायी संस्थानों के रूप में तब्दील होते जा रहे हैं, आप युवा विंग मरीज के परिजनों को अस्पताल और चिकित्सक की सेवा से संतुष्ट न होने की स्थिति में उपभोक्ता फोरम के माध्यम से न्याय दिलाएगी डॉ निर्वाणी ने कहा कि यदि मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया शिकायतों को सही पाती है और अस्पतालों की लापरवाही और व्यावसायिक मानसिकता पाती है तो वह उस नर्सिंग होम के लाइसेंस को निरस्त कर सकती है. केस से संबंधित चिकित्सको पर प्रतिबंध लगा सकती है और अस्प्ताल प्रबंधन पर जुर्माना भी लगा सकती है.

आम आदमी पार्टी अपने विधिक सेल, आर टी आई सेल और आप चिकित्सा प्रकोष्ठ के सयुंक्त सलाह पर मरीजो को ऐसे लूट के खिलाफ न्याय दिलाएगी. इसके लिए सोशल मीडिया के माध्यम से 7747919191 नंबर जारी किया गया है ताकि मरीजो को मदद की जा सके. आप यूथ विंग के वालिंटियर नर्सिंग होम के सामने हेल्प डेस्क के माध्यम से मदद के लिए उपलब्ध रहेंगे.

Back to top button