जीवन में न सरकार का अभाव हो, न सरकार का प्रभाव हो: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

बजट घोषणाओं के कार्यान्वयन को लेकर वेबिनार के जरिए अपने भाषण में पीएम मोदी ने कहा

नई दिल्ली: बजट घोषणाओं के कार्यान्वयन को लेकर वेबिनार के जरिए अपने भाषण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि बेकार पड़ी सरकारी संपत्तियों को बेचकर 2.5 लाख करोड़ रुपये जुटाने की योजना पर काम कर रहे हैं. यानि जीवन में न सरकार का अभाव हो, न सरकार का प्रभाव हो.

पीएम मोदी ने कहा कि जब देश में पब्लिक सेक्टर इंटरप्राइज शुरू किए गए थे तब समय अलग था और देश की जरूरतें भी अलग थीं. आज जब हम ये रिफॉर्म्स कर रहे हैं तो हमारा सबसे बड़ा लक्ष्य यही है कि जनता के पैसे का सही उपयोग हो.

उन्होंने कहा कि सरकार का ये दायित्व है कि वो देश के इंटरप्राइजेज को, बिजनेस को पूरा समर्थन दे, लेकिन सरकार खुद इंटरप्राइज चलाए, उसकी मालिक बनी रहे, ये आवश्यक नहीं.

वन मार्केट-वन टैक्स सिस्टम से युक्त भारतः पीएम मोदी उन्होंने कहा कि दुनिया के सबसे बड़े युवा देश की ये अपेक्षाएं सिर्फ सरकार से ही नहीं हैं, बल्कि प्राइवेट सेक्टर से भी उतनी ही हैं. ये आकांक्षाएं, बिजनेस की एक बहुत बड़े मौके के रूप में आई हैं. आइए, हम सभी इन अवसरों का उपयोग करें.

वन मार्केट-वन टैक्स सिस्टम का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि बीते वर्षों में हमारी सरकार ने भारत को बिजनेस के लिए एक अहम डेस्टिनेशन बनाने के लिए निरंतर रिफॉर्म्स किए हैं. आज भारत वन मार्केट-वन टैक्स सिस्टम से युक्त है. आज भारत में कंपनियों के लिए एंट्री और एग्जिट के लिए बेहतरीन माध्यम उपलब्ध हैं.

बेवजह के दखल को भी कम करना लक्ष्यः

पीएम मोदी लोगों के आम जीवन में सरकार के दखल कम करने की बात करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि हमारी सरकार का प्रयास, लोगों के जीवन स्तर को सुधारने के साथ ही, लोगों के जीवन में सरकार के बेवजह के दखल को भी कम करना है. यानि जीवन में न सरकार का अभाव हो, न सरकार का प्रभाव हो.

उन्होंने कहा कि सरकार जिस मंत्र को लेकर आगे बढ़ रही है, वो है मोनेटाइज और मॉर्डनाइज. जब सरकार मोनेटाइज करती है तो उस स्थान से देश का प्राइवेट सेक्टर बढ़ता है. प्राइवेट सेक्टर अपने साथ निवेश भी लाता है और ग्लोबल बेस्ट प्रेक्टिस भी लाता है. उन्होंने निजी क्षेत्र की खासियत बताते हुए कहा कि इससे मॉडर्न तकनीक और नौकरियां आती हैं.

उन्होंने आगे कहा कि सरकार के पास कई ‘कमजोर और अप्रयुक्त संपत्ति’ है और 100 ऐसी संपत्तियों को मौद्रिकरण किया जाएगा जिससे 2.5 लाख करोड़ रुपये जुटाने मिलेंगे. इस राशि का उपयोग विकास परियोजनाओं के वित्तपोषण के लिए किया जाएगा.

पीएम मोदी ने कहा कि इस बार बजट से पहले आपमें से अनेक साथियों से विस्तार से बात हुई थी. इस बजट ने भारत को फिर से हाई ग्रोथ ट्रेजेक्ट्री पर ले जाने के लिए स्पष्ट रोड मैप सामने रखा है. बजट में भारत के विकास में प्राइवेट सेक्टर के मजबूत योगदान पर भी फोकस है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बजट घोषणाओं के कार्यान्वयन को लेकर वेबिनार के जरिए अपने भाषण में कहा कि इस बजट ने भारत को फिर से हाई ग्रोथ ट्रेजेक्ट्री पर ले जाने के लिए स्पष्ट रोडमैप सामने रखा है. बजट में भारत के विकास में प्राइवेट सेक्टर की मजबूत पार्टनरशिप पर भी फोकस किया गया है.

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button