लाइफ स्टाइलसेक्स एंड रिलेशनशिप

पुरुषों के लिए नया विकल्प, कंडोम की जगह कर सकते है जेल का प्रयोग होगा बर्थ कंट्रोल

पॉपुलेशन काउंसिल और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ चाइल्ड हेल्थ और ह्यूमन डेवलपमेंट के शोधकर्ताओं ने मिलकर ये जेल विकसित किया है|

यूं तो महिलाओं के लिए बाजार में कई प्रकार की गर्भनिरोधक गोलियां मौजूद हैं, लेकिन वैज्ञानिकों ने अब पुरुषों के लिए बर्थ कंट्रोल जेल विकसित किया है. ये पुरुषों के लिए बनाया गया पहला कॉन्ट्रासेप्शन जेल होगा.

पॉपुलेशन काउंसिल और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ चाइल्ड हेल्थ और ह्यूमन डेवलपमेंट के शोधकर्ताओं ने मिलकर ये जेल विकसित किया है, जो पुरुषों में स्पर्म के प्रोडक्शन को कम करने में मदद करेगा.

स्टडी की रिपोर्ट में बताया गया है कि इस जेल में फीमेल सेक्स हार्मोन प्रोजेस्टेरोन का सिंथेटिक वर्जन और पुरुषों में पाया जाने वाला टेस्टोस्टेरोन हार्मोन शामिल है. इस जेल को पुरुषों को अपने कंधे और कमर पर लगाना होगा, जिसके बाद स्किन इस जेल में मौजूद हार्मोन्स को एब्सोर्ब कर पुरुषों में स्पर्म के प्रोडक्शन को कम कर देगी.

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ के मुताबिक, इस जेल को लगाने से पुरुषों में स्पर्म की मात्रा तो कम हो जाएगी, लेकिन इसका असर ज्यादा लंबे समय तक नहीं रहेगा.

इसके अलावा जेल में मौजूद टेस्टोस्टेरोन पुरुषों में पाए जाने वाले नेचुरल टेस्टोस्टेरोन हार्मोन के कम होने पर होने वाले कई प्रकार के साइड इफेक्ट्स से भी सुरक्षित रखेगा. जैसे- इरेक्टाइल डिसफंक्शन, शरीर के बालों का कम होना, आवाज में बदलाव आदि.

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ की कॉन्ट्रासेप्टिव डेवलपमेंट प्रोग्राम की मुख्य लेखक Diana Blithe ने बताया, कई महिलाएं हार्मोनल कॉन्ट्रासेप्शन इस्तेमाल नहीं कर पाती हैं. वहीं, पुरुषों के लिए बाजार में बहुत लिमिटेड कॉन्ट्रासेप्टिव हैं.

उन्होंने आगे कहा, ‘एक सुरक्षित, असरदार और रिवर्सिबल मेल कॉन्ट्रासेप्टिव लोगों की जरूरतों को पूरा करने में सक्षम है.’
बता दें, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ द्वारा U.S में जल्द ही इस जेल का क्लीनिकल ट्रायल किया जाएगा.

इसमें करीब 400 कपल्स पर इस जेल का टेस्ट किया जाएगा. इस ट्रायल से पता लगाया जा सकेगा कि ये जेल कितना सुरक्षित और असरदार है और एक समय में कितना जेल इस्तेमाल करना फायदेमंद रहेगा.

यूनिवर्सिटी ऑफ वॉशिंगटन स्कूल ऑफ मेडिसिन के डॉ. विलियम ब्रेमनर ने कहा कि इस नए जेल में बहुत क्षमता है, ये बहुत असरदार साबित हो सकता है.

बर्थ कंट्रोल के लिए पुरुषों के पास अभी तक केवल कंडोम का ही ऑप्शन था. कॉन्ट्रासेप्शन के सभी ऑप्शन महिलाओं के लिए ही थे. लेकिन इस जेल की मदद से अब पुरुष भी बिना कंडोम इस्तेमाल किए बर्थ कंट्रोल कर सकेंगे.

बता दें, वैज्ञानिक पुरुषों के लिए भी कॉन्ट्रासेप्टिव दवाइयां बनाने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन फिलहाल इसमें अभी लगभग 5 साल का समय लगेगा. हालांकि, वैज्ञानिकों ने बताया कि अभी ये कहना मुश्किल होगा कि पुरुषों के लिए आने वाली कॉन्ट्रासेप्टिव गोलियों की फॉर्म में होंगी या फिर स्प्रे और सब-स्किन इंप्लांट की फॉर्म में.

साल 2016 में Wolverhampton University के शोधकर्ताओं ने बताया था कि उन्होंने स्पर्म स्विमिंग को रोकने का तरीका विकसित किया है. इसके जरिए छोटे-छोटे कंपाउंड स्पर्म में मिलकर इसकी क्षमता को कम कर महिला को प्रेग्नेंट नहीं कर सकेंगे.

 

Summary
Review Date
Reviewed Item
पुरुषों के लिए नया विकल्प, कंडोम की जगह कर सकते है जेल का प्रयोग होगा बर्थ कंट्रोल
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags