दोस्ती का नया दौर: लुंगी पहने पीएम मोदी ने शी को बताया पुराना नाता

महाबलिपुरम. ऐतिहासिक शहर महाबलीपुरम में पीएम नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग की अनौपचारिक मुलाकात हुई. दोनों देशों के बीच बेहतर रिश्तों के लिहाज से चीनी राष्ट्रपति का यह दौरा बहुत महत्वपूर्ण है. चीनी राष्ट्रपति से मुलाकात के लिए पहुंचे पीएम मोदी ने पारंपरिक तमिल परिधान वेष्टि (लुंगी जैसा परिधान) में पहुंचे. चीनी राष्ट्रपति भी कैजुअल सफेद शर्ट और पैंट में पहुंचे. दोनों नेताओं ने गर्मजोशी से हाथ मिलाया. शी के स्वागत के लिए भारत की ओर से खास इंतजाम भी किए गए हैं. वुहान में चीन के राष्‍ट्रपति ने जिस तरह से पीएम मोदी का ग्रैंड वेलकम किया था, कुछ उसी तरह से चीनी राष्‍ट्रपति का महाबलीपुरम में स्‍वागत किया गया.

ममल्लापुरम में 3 पौराणिक महत्ववाले स्मारकों का भ्रमण

दोनों शीर्ष नेता ममल्लापुरम में तीन स्मारकों का दौरा कर रहे हैं. इसमें अर्जुन की तपस्यास्थली, पंच रथ और शोर मंदिर शामिल हैं. शोर मंदिर में सांस्कृतिक नृत्य की लुत्फ भी चीनी राष्ट्रपति थोड़ी देर में उठाएंगे. यह सांस्कृतिक नृत्य भारत के प्रसिद्ध सांस्कृतिक नृत्य समूह कलाक्षेत्र द्वारा पेश किया जाएघा जिसे मशहूर क्लासिकल डांसर और ऐक्टिविस्ट रुक्मणि देवी ने 1936 में गठित किया था.

अर्जुन की तपस्यास्थली पर पहुंचे दोनों नेता

अर्जुन की तपस्यास्थली का भ्रमण पीएम मोदी और शी चिनफिंग पहुंचे. इस दौरान पीएम मोदी और चीनी राष्ट्रपति के बीच काफी अच्छी बॉन्डिंग देखने को मिली. पीएम मोदी ऐतिहासिक स्थल के बारे में शी को कुछ बताते हुए भी नजर आए. इस दौरान दोनों ही नेताओं के बीच लंबी बातचीत होती दिखी और शी काफी ध्यान से पीएम मोदी की बात सुनते नजर आए.

Back to top button