छत्तीसगढ़राष्ट्रीय

नया साल, रखे आपको खुशहाल

इस धरती पर आज जितने भी लोग हैं उनकी नजर से एक और साल गुजर रहा है. वर्ष 2018 को जाते हुए और नया साल 2019 को आते हुए देखना सभी को रोमांचित कर रहा होगा. बीत रहे वर्ष 2018 में भोगे सुख के दिन और बिताये कष्ट के पल याद आ रहे होंगे. इसी के साथ आने वाला वर्ष 2019 बीते साल से अच्छा रहे यह कामना हर किसी की होगी. आने वाले दिन अच्छे रहे इसके लिए हमें अपने कर्म अच्छे रखने होंगे. क्योंकि सुख, समृद्धि, यश, कृति, वैभव, ऐश्वर्य सभी हमारे अच्छे कार्यों का ही फल है. अच्छे कर्म और बुरे कर्म की परिभाषा कोई और बताएं इससे अच्छा है कि आप स्वयं इसका निर्धारण करें.

एक पंक्ति में यह कहा जा सकता है कि पाप से दूर रहें और पुण्य की ओर अग्रसर रहें. हमारे वेद और पुराण पाप – पुण्य की व्याख्याओं से भरे पड़े हैं लेकिन जिन महर्षि व्यास ने 18 पुराणों की रचना की है उनका निचोड़ निम्न श्लोक में है.

अष्टादश पुराणेषु व्यासस्य वचनद्वयम् |

परोपकाराय पुण्याय पापाय परपीडनम् ||

अर्थात महर्षि व्यास ने अठारह पुराणों में दो ही बातें कहीं हैं. वे बातें यह है कि परोपकार करना ही पुण्य है और परपीड़ा अर्थात दूसरों को कष्ट पहुंचाना ही पाप है.

अत: हम सब का यह प्रयास रहे कि आने वाले साल में किसी को पीड़ित करने की कोशिश ना करें तो पुण्य कार्य करेंगे और पुण्य करेंगे तो आप की हर कामना पूरी होगी. आपको हर क्षेत्र में सफलता मिलेगी.

नववर्ष की पूर्व संध्या पर क्लिपर28 परिवार आपको एवं आपके परिजनों को हार्दिक बधाई देता है और कामना करता है कि नया साल आप सभी को हर हाल में खुशहाल रखे.

Back to top button