न्यूजीलैंड के संकटमोचक विकेटकीपर बीजे वाटलिंग ने संन्यास का किया ऐलान

इंग्लैंड के खिलाफ दो मैचों की टेस्ट सीरीज खेलेंगे वॉटलिंग

नई दिल्ली:न्यूजीलैंड के कीपर-बल्लेबाज बीजे वाटलिंग ने घोषणा की है कि वह इंग्लैंड दौरे के बाद खेल से संन्यास ले लेंगे. बीजे वॉटलिंग भारत के खिलाफ होने वाले वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल मैच के बाद इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह देंगे. वॉटलिंग वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल से पहले इंग्लैंड के खिलाफ दो मैचों की टेस्ट सीरीज भी खेलेंगे.

बीजे वॉटलिंग का न्यूजीलैंड क्रिकेट की कामयाबी में बड़ा योगदान रहा है. ब्रैंडन मैक्कलम के संन्यास के बाद वॉटलिंग न्यूजीलैंड की टीम के अहम खिलाड़ी बनकर उभरे. 2009 में टेस्ट डेब्यू करने वाले वॉटलिंग ने टेस्ट क्रिकेट में 38.11 की औसत से 3773 रन बनाए हैं, जिसमें 8 शतक और 19 अर्धशतक शामिल हैं. वॉटलिंग ने न्यूजीलैंड के लिए 5 टी20 और 28 वनडे मैच भी खेले है

बीजे वॉटलिंग को न्यूजीलैंड के संकटमोचक के तौर पर जाना जाता है. न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन भी उन्हें एक बड़ा बल्लेबाज मानते हैं. विलियमसन से जब सवाल किया गया था कि अगर उन्हें अपनी जान बचाने के लिए किसी बल्लेबाज को चुनना हो तो वो कौन होगा? इसपर विलियमसन ने बीजे वॉटलिंग का ही नाम लिया था.

आपको बता दें बीजे वॉटलिंग का जन्म साउथ अफ्रीका के डरबन में हुआ था लेकिन जब वो 10 साल के थे तो उनका परिवार न्यूजीलैंड बस गया. क्रिकेट का ककहरा वॉटलिंग ने न्यूजीलैंड में ही सीखा. साल 2008 में उन्होंने हैमिल्टन सीनियर क्लब के लिए खेलते हुए 378 रनों की विशाल पारी खेली

साल 2004 में वॉटलिंग ने न्यूजीलैंड के लिए टी20 वर्ल्ड कप भी खेला. वॉटिंग ने 44.66 की औसत से 268 रन बनाए. वॉटलिंग ने इस वर्ल्ड कप में स्कॉटलैंड के खिलाफ 154 रनों की बेहतरीन पारी खेली

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button