NIA ने केरल और पश्चिम बंगाल से अलकायदा के नौ आतंकवादियों को गिरफ्तार किया

एनआईए ने पश्चिम बंगाल और केरल सहित देश के विभिन्न स्थानों से चल रहे अलकायदा के अंतरराज्यीय मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया है।

नई दिल्ली/कोलाकता : राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने शनिवार को केरल और पश्चिम बंगाल में कई स्थानों पर एक साथ छापेमारी कर पाकिस्तान प्रायोजित अलकायदा के मॉड्यूल के नौ आतंकवादियों को गिरफ्तार किया। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि एनआईए ने केरल के एर्णाकुलम और पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद में शनिवार तड़के छापेमारी की। एनआईए ने पश्चिम बंगाल और केरल सहित देश के विभिन्न स्थानों से चल रहे अलकायदा के अंतरराज्यीय मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया है।

अधिकारी ने बताया कि समूह निर्दोषों की हत्या करने के उद्देश्य से देश के प्रमुख प्रतिष्ठानों पर आतंकवादी हमले की योजना बना रहा था।

एनआईए ने 11 सितंबर को मामला दर्ज कर जांच शुरू की थी

उन्होंने बताया कि एनआईए ने 11 सितंबर को मामला दर्ज कर जांच शुरू की थी। अधिकारी ने बताया कि छापेमारी के दौरान पश्चिम बंगाल के छह और केरल से तीन आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया।

एनआईए ने मुर्शिद हसन, याकूब बिस्वास, मुसरफ हुसैन को एर्णाकुल से गिरफ्तार किया है जबकि नजमुस साकिब, अबू सुफियान, मैनुल मंडल, लियू यिन अहमद, अल मामून कमाल और अतितुर रहमान को मुर्शिदाबाद से गिरफ्तार किया गया है।

शुरुआती जांच से खुलासा हुआ कि गिरफ्तार व्यक्तियों को पाकिस्तान में रह रहे अलकायदा के आतंकवादी सोशल मीडिया मंच के जरिये कट्टरपंथी बना रहे थे और उन्हें राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) सहित विभिन्न स्थानों पर हमले के लिए उकसा रहे थे।

अधिकारी ने बताया कि मॉड्यूल सक्रियता से पैसे जुटा रहा था और उसके सदस्यों की योजना नयी दिल्ली जाकर हाथियार और गोला-बारूद खरीदने की थी।उन्होंने बताया कि इनकी गिरफ्तारी से देश के विभिन्न हिस्सों में संभावित हमले टल गए।

अधिकारी ने बताया कि इनके पास से डिजिटिल उपकरण, जिहादी साहित्य, धारदार हथियार, कट्टा, स्थानीय स्तर पर बनाए गए जिरह बख्तर, घर में ही विस्फोटक उपकरण बनाने की जानकारी देने वाले लेख और साहित्य सहित आपत्तिजनक सामग्री जब्त की गई है।

उन्होंने बताया कि आगे की जांच के लिए हिरासत में लेने के लिए उन्हें केरल और पश्चिम बंगाल की संबंधित अदालतों में पेश किया जाएगा।

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button