नीरव मोदी की दूसरी जमानत याचिका पर वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट में सुनवाई आज

विजय माल्या के खुद के प्रत्यर्पण को आगे बढ़ाई गई

नई दिल्ली: पंजाब नेशनल बैंक के अधिकारियों के साथ षडयंत्रण कर विदेशी आपूर्तिकर्ताओं के लिए फ़र्ज़ी भुगतान पत्र कर 20 करोड़ रूपए का घोटाला करने के मामले में हीरा कारोबारी नीरव मोदी की दूसरी जमानत याचिका पर आज वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट में सुनवाई होगी। साथ ही शराब व्यापारी विजय माल्या के खुद के प्रत्यर्पण को हाईकोर्ट में चुनौती देने वाली अपील भी जज के फैसले के लिए आगे बढ़ाई गई है।

ब्रिटिश न्यायपालिका के एक प्रवक्ता ने माल्या के आवेदन पर कहा कि सभी दस्तावेज प्राप्त हो गए हैं और अब इस मामले की सुनवाई के लिए एकल जज की नियुक्ति का इंतजार है जो दस्तावेज के आधार पर फैसला सुनाएंगे। माल्या ने अपने प्रत्यर्पण को ब्रिटिश गृह मंत्री साजिद जाविद द्वारा दी गई मंजूरी के खिलाफ हाईकोर्ट में अपील की है। हालांकि इस मामले में फैसला सुनाने के लिए जज के लिए कोई समयसीमा तय नहीं है।

चीफ मजिस्ट्रेट एम्मा अर्बुथनॉट ने माल्या के प्रत्यर्पण को मंजूरी देते हुए अपने फैसले में कहा था कि उनके खिलाफ कर्ज धोखाधड़ी के पर्याप्त सुबूत हैं और प्रथमदृष्टया पाया कि माल्या बैंकों से धोखाधड़ी की साजिश में शामिल थे। माना जा रहा है कि नीरव मोदी की जमानत याचिका पर भी चीफ मजिस्ट्रेट एम्मा ही सुनवाई करेंगी। 48 वर्षीय नीरव पिछले बुधवार से दक्षिण-पश्चिम लंदन में एचएमपी वैंड्सवर्थ जेल में बंद हैं।

Back to top button