नितिन गडकरी और शरद पवार की मुलाका, नए समीकरणों पर चर्चा शुरू

पुणे : भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और नैशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के बीच यूं तो कोई समझौता नहीं है लेकिन गाहे-बगाहे ये पार्टियां एक-दूसरे से ‘करीबी’ दिखाती रहती हैं। पीएम मोदी भी कई बार एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार की तारीफ कर चुके हैं। हाल ही में शरद पवार और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने मुलाकात की और विभिन्न मुद्दों पर लगभग एक घंटे बात की, जिसमें 15 मिनट सिर्फ इन दो लोगों के बीच ही चर्चा हुई। इस मुलाकात के बाद अब राजनीतिक गलियारों में किसी नए समीकरण की संभावनाओं पर चर्चा शुरू हो गई है।

उधर, दोनों पार्टियों की ओर से कहा जा रहा है कि यह मीटिंग विकास के मुद्दों को लेकर हुई है। बता दें कि महाराष्ट्र में बीजेपी की सहयोगी शिवसेना काफी समय से बागी तेवर दिखा रही है और 2019 में अकेले चुनाव लड़ने की चेतावनी भी दे चुकी है। ऐसे में बीजेपी नए साथी के रूप में शरद पवार को साथ ले सकती है।

शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने बीजेपी की केंद्र सरकार के चार साल पूरे होने के उपलक्ष्य में पुणे में आयोजित कई मीटिंग्स और कार्यक्रमों में हिस्सा लिया। दिनभर के कार्यक्रम के दौरान उन्होंने महाराष्ट्र के विधायकों और मंत्रियों से भी मुलाकात की। इसके अलावा शरद पवार से भी गडकरी ने लंबी बातचीत की। मीटिंग के शुरुआती 15 मिनट में सिर्फ शरद पवार और गडकरी के बीच ही बात हुई। बाद में अन्य वरिष्ठ नेताओं ने भी इस मीटिंग में हिस्सा लिया।

इस बैठख के बाद नितिन गडकरी ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट में लिखा, ‘एनसीपी नेता शरद पवार ने पुणे में मुझसे औपचारिक मुलाकात की। मैंने उन्हें नागपुर की ब्रॉडगेज मेट्रो के काम के बारे में जानकारी दी।’ वहीं एनसीपी नेता अंकुश काकड़े ने इस बारे में कहा, ‘शरद पवार पुणे में नैशनल हैवी इंजिनियरिंग से जुड़ी के मीटिंग के संबंध में यहां आए थे। संयोग से नितिन गडकरी भी उसी होटेल में ठहरे थे। दोनों को अनौपचारिक मुलाकात हुई। अब राजनीतिक चर्चा होना तो स्वाभाविक है। मुझे नहीं लगता की कोई राजनीतिक चर्चा नहीं हुई। अगर ऐसा कुछ होना होता तो इतने खुलेआम नहीं होता।’

Back to top button