Uncategorized

27 मंत्रियों के साथ नीतीश कुमार ने बनाई अपनी नयी टीम

पटना : नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली नयी एनडीए सरकार के कैबिनेट का शनिवार को पहला विस्तार कर दिया गया. राजभवन में आयोजित शपथ ग्रहण समारोह में राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी ने कुल 27 मंत्रियों को शपथ दिलायी. इनमें जदयू के 14, भाजपा के 12 और एनडीए कोटे से लोजपा के एक मंत्री बनाये गये हैं.

 

लोजपा प्रमुख व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के छोटे भाई और प्रदेश अध्यक्ष पशुपति कुमार पारस बिना किसी सदन के सदस्य होते हुए भी मंत्री बनाये गये. दूसरी ओर भाजपा कोटे से मंगल पांडेय समय पर नहीं पहुंच पाये जिसके कारण देर शाम अलग से शपथ दिलायी गयी. जदयू कोटे से रमेश ऋषिदेव नया चेहरा हैं, जिन्हें पहली बार मंत्री बनाया गया है. जबकि, दिनेश चंद्र यादव 2005 की सरकार के कैबिनेट विस्तार में और बाकी अन्य महागठबंधन सरकार में भी मंत्री रहे हैं.

 

दूसरी ओर भाजपा कोटे से आठ नये मंत्रियों को शपथ दिलायी गयी. अंतिम समय में रालोसपा कोटे से सुधांशु शेखर को मंत्री नहीं बनाया जा सका. कैबिनेट के विस्तार के साथ ही सभी मंत्रियों के बीच विभागों का बंटवारा कर दिया गया. देर शाम साढ़े सात बजे मुख्य सचिवालय स्थित कैबिनेट कक्ष में कैबिनेट की बैठक हुई और मॉनसून सत्र बुलाने को लेकर फैसला लिया गया. विधानसभा की संख्या बल के आधार पर राज्य में अधिकतम 36 मंत्री बनाये जा सकते हैं. कैबिनेट के पहले विस्तार के बाद मंत्रियों के सात पद अब भी खाली हैं.

जदयू

ये बने मंत्री

विजेंद्र प्रसाद यादव, राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह, श्रवण कुमार, जय कुमार सिंह, केएन प्रसाद वर्मा, महेश्वर हजारी, शैलेश कुमार, कुमारी मंजू वर्मा, संतोष कुमार निराला, फिरोज अहमद, मदन सहनी, कपिल देव कामत, दिनेश चंद्र यादव व रमेश ऋषिदेव.

भाजपा

ये बने मंत्री

प्रेम कुमार, नंदकिशोर यादव, रामनारायण मंडल, मंगल पांडेय प्रमोद कुमार, विनोद नारायण झा, सुरेश शर्मा, विजय कुमार सिन्हा, राणा रणधीर सिंह, विनोद कुमार सिंह, कृष्ण कुमार ऋषि व बृज किशोर बिंद.

लोजपा से पशुपति कुमार पारस.

सामाजिक समीकरण का भी रखा गया ख्याल

कैबिनेट विस्तार में सामाजिक समीकरण का भी ख्याल रखने की कोशिश की गयी है. जदयू के खुर्शीद उर्फ फिरोज अहमद एकमात्र मुसलिम चेहरा हैं, वहीं जदयू की ही कुमारी मंजू वर्मा भी कैबिनेट की एक मात्र महिला सदस्य होंगी. सवर्ण कोटे में सबसे अधिक भूमिहार जाति के तीन लोगों को मंत्री बनाया गया है. इसमें जदयू से राजीव रंजन सिर्फ उर्फ ललन सिंह और भाजपा से विजय कुमार सिन्हा और सुरेश शर्मा शामिल हैं. ब्राह्मण कोटे से भाजपा के विनोद नारायण झा व मंगल पांडेय मंत्री बनाये गये हैं.

राजपूत कोटे से जदयू के जय कुमार सिंह और भाजपा से राणा रणधीर सिंह को मंत्री बनाया गया है. वहीं कायस्थ जाति से किसी को मंत्री नहीं बनाया गया है. पिछड़ी जातियों में यादव जाति से तीन मंत्री बनाये गये हैं. जदयू से दो विजेंद्र प्रसाद यादव व दिनेश चंद्र यादव और भाजपा से नंदकिशोर यादव मंत्री बने हैं. कुशवाहा जाति से जदयू की मंजू वर्मा और भाजपा के विनोद कुमार सिंह मंत्री बनाये गये हैं. पासवान जाति से लोजपा के पशुपति कुमार पारस और जदयू के महेश्वर हजारी और दलित कोटे से रमेश ऋषिदेव, कृष्ण कुमार ऋषि, संतोष कुमार निराला को मंत्री बनाया गया है. अति पिछड़ी जातियों से छह मंत्री बनाये गये हैं.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार : गृह, सामान्य प्रशासन, सूचना व जनसंपर्क, विधि, मंत्रिमंडल सचिवालय, निगरानी समेत वैसे विभाग जो किसी अन्य के पास नहीं हैं.

उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी : वित्त, वाणिज्यकर, वन और सूचना व प्राद्योगिकी

विजेंद्र प्रसाद यादव : ऊर्जा और उत्पाद व मद्य निषेध विभाग

प्रेम कुमार : कृषि विभाग

राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह : जल संसाधन और योजना विकास विभाग

नंदकिशोर यादव : पथ निर्माण विभाग

श्रवण कुमार : ग्रामीण विकास और संसदीय कार्य विभाग

राम नारायण मंडल : राजस्व व भूमि सुधार विभाग

जय कुमार सिंह : उद्योग, विज्ञान व प्रावैधिकी विभाग

प्रमोद कुमार : पर्यटन विभाग

कृष्णनंदन वर्मा : शिक्षा विभाग

मंगल पांडेय : स्वास्थ्य विभाग

महेश्वर हजारी : भवन निर्माण

विनोद नारायण झा : लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग

शैलेश कुमार : ग्रामीण कार्य विभाग

सुरेश शर्मा: नगर विकास व आवास विभाग

मंजू वर्मा : समाज कल्याण विभाग

विजय कुमार सिन्हा : श्रम संसाधन विभाग

संतोष कुमार निराला : परिवहन विभाग

राणा रणधीर सिंह : सहकारिता विभाग

खुर्शीद उर्फ फिरोज अहमद : गन्ना उद्योग व अल्पसंख्यक कल्याण

विनोद कुमार सिंह : खान व भूतत्व विभाग

मदन सहनी : खाद्य व उपभोक्ता संरक्षण विभाग

कृष्ण कुमार ऋषि : कला, संस्कृति व युवा विभाग

कपिलदेव कामत : पंचायती राज विभाग

दिनेश चंद्र यादव : लघु सिंचाई व आपदा प्रबंधन विभाग

रमेश ऋषिदेव : अनुसूचित जाति, जनजाति कल्याण विभाग

ब्रजकिशोर बिंद : पिछड़ा व अतिपिछड़ा कल्याण विभाग

पशुपति पारस : पशु व मत्स्य संसाधन विभाग

Tags
Back to top button