पता नहीं क्‍या खिचड़ी पकी कि नीतीश आरएसएस की राह चल दिए : लालू

पटना: बिहार के मुख्‍यमंत्री और अपने सहयोगी नीतीश कुमर द्वारा एनडीए के राष्‍ट्रपति पद के उम्‍मीदवार का समर्थन किए जाने को लेकर उनके सहयोगी और राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने एक दिन पहले ही कहा था कि नीतीश ऐतिहासिक भूल कर रहे हैं. अब शुक्रवार को लालू प्रसाद ने कहा है कि पता नहीं क्‍या खिचड़ी पकी कि नीतीश आरएसएस की राह चल दिए. उन्‍होंने कहा है वह नीतीश कुमार की इफ्तार पार्टी के दौरान उनसे मिलेंगे और उनसे इस मुद्दे पर बात करेंगे.

लालू ने कहा, ‘दो दो बैठक में शरीक भी हुए, मैं भी गया था एक बैठक में तो मैं भी गया था. मैंने नीतीश कुमार जी से पूछा था कि क्‍या करना है, क्‍या निर्णय है? तो नीतीश जी ने कहा था कि जो सभी लोग कहेंगे उसको मानना है, विपक्ष को एक साथ चलना है. अब एकाएक क्‍या खिचड़ी पकी कि नीतीश जी की पार्टी जेडीयू ने नाम बोल दिया बीजेपी के उम्‍मीदवार का, आरएसएस के उम्‍मीदवार का नाम ले लिया. जरूर नीतीश जी से बात करेंगे और अपील करेंगे कि इस पर फिर से विचार की, ऐतिहासिक गलती तो आपसे हो गई है.’

गुरुवार को लालू ने कहा था, ‘उनके सहयोगी जदयू द्वारा एनडीए के राष्ट्रपति पद के प्रत्याशी रामनाथ कोविंद का समर्थन करने का निर्णय ‘एक गलत निर्णय’ है और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार उनका समर्थन कर ‘ऐतिहासिक भूल’ कर रहे हैं.’

राजद बिहार में नीतीश कुमार के जद यू और कांग्रेस के साथ गठबंधन सरकार में शामिल है. राजद सुप्रीमो ने कहा था कि वह नीतीश कुमार से मामले में पुनवर्चिार करने के लिए कहेंगे लेकिन इससे राज्य सरकार को कोई खतरा नहीं है और जद यू के इस निर्णय के बावजूद गठबंधन जारी रहेगा. लालू ने कहा था कि कि मैंन उनसे ऐतिहासिक गलती नहीं करने के लिए कहूंगा क्योंकि भाजपा उम्मीदवार को समर्थन करने का उनका निर्णय गलत है.’

Back to top button