नीतीश ने राज्यपाल के समक्ष पेश किया सरकार बनाने का दावा, शपथ ग्रहण कल

इस बार भाजपा ज्यादा मंत्री पदों पर अड़ी है, क्योंकि उसके ज्यादा विधायक जीते हैं।

नई दिल्ली अध्यक्ष नीतीश कुमार को रविवार को राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) का नेता चुन लिया गया और इसके साथ ही कुमार के लगातार चौथी बार मुख्यमंत्री बनने का मार्ग प्रशस्त हो गया है। इसके बाद नीतीश कुमार ने राज्यपाल से मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया है। कल करीब साढ़े चार बजे नीतीश कुमार सीएम पद की शपथ लेंगे। हालांकि डिप्टी सीएम पद को लेकर पेंच अभी फंसा हुआ है। सुशील मोदी को लेकर भाजपा में असमंजस बना हुआ है। इसके साथ ही मंत्रिमंडल को लेकर भी हालात साफ नहीं हैं। इस बार भाजपा ज्यादा मंत्री पदों पर अड़ी है, क्योंकि उसके ज्यादा विधायक जीते हैं।

सीमा की बजाय बिहार सियासत में उलझे राजनाथ
इससे पहले वरिष्ठ भाजपा नेता राजनाथ सिंह ने बताया कि राजग की संयुक्त बैठक में नीतीश कुमार को गठबंधन का नेता चुना गया। बैठक के बाद नीतीश कुमार राजभवन गए और राज्यपाल फागू चौहान से मुलाकात कर सरकार बनाने का दावा एवं पत्र पेश किया। नीतीश कुमार ने संवाददाताओं से कहा, ” कल (सोमवार) को दोपहर बाद 4 से 4.30 बजे के बीच शपथ ग्रहण समारोह होगा।” उन्होंने कहा कि अभी सभी घटक दलों के नेताओं के साथ हमने राज्यपाल को राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के निर्णय के बारे में जानकारी दे दी। कुमार ने कहा, ” राज्यपाल महोदय ने मुझे मुख्यमंत्री मनोनीत किया है।”

उन्होंने कहा कि आगे राज्य का विकास हो, इसके लिये हम सभी मिलकर काम करेंगे । सभी लोग मिलकर हर क्षेत्र और हर तबके के विकास के लिये काम करेंगे। उन्होंने कहा कि शपथ ग्रहण के बाद कैबिनेट की बैठक होगी और उसमें तय होगा कि सदन की बैठक कब बुलानी है ताकि सदस्यों का शपथ ग्रहण हो सके। मंत्रियों की संख्या के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि कितने लोग शपथ लेंगे, यह भी तय हो जायेगा।

यह पूछे जाने पर कि क्या सुशील कुमार मोदी उपमुख्यमंत्री बनेंगे, कुमार ने कहा कि यह सब थोड़ी देर में तय हो जायेगा। राजनाथ सिंह ने भी उपमुख्यमंत्री के नाम के बारे में पूछे जाने पर कहा कि उचित समय पर जानकारी दे दी जायेगी। इससे पहले भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह तथा महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस की मौजूदगी में मुख्यमंत्री आवास, एक अणे मार्ग पर राजग के घटक दलों की संयुक्त बैठक हुई।

इस बैठक में नीतीश कुमार के साथ राजनाथ सिंह, पार्टी के चुनाव प्रभारी देवेन्द्र फडणवीस, हम पार्टी के नेता जीतन राम मांझी, वीआईपी पार्टी के नेता मुकेश सहनी भी शामिल हुए। भाजपा के पर्यवेक्षक बनाये गए वरिष्ठ नेता राजनाथ सिंह पटना पहुंचने के बाद मुख्यमंत्री आवास गए । इससे पहले भाजपा विधायक दल की बैठक को टाल दिया गया था जो सुबह 10 बजे होनी थी।

राजनाथ सिंह ने संवाददाताओं को बताया कि भाजपा विधायकों की बैठक में कटिहार से नवनिर्चाचित विधायक तारकेश्वर प्रसाद को भाजपा विधायक दल का नेता चुना गया। उन्होंने बताया कि रेणु देवी को भाजपा विधायक दल का उपनेता चुना गया। जद (यू) के वरिष्ठ नेता वशिष्ठ नारायण सिंह ने संवाददाताओं से कहा, ” कल (सोमवार) का दिन बेहत शुभ है ।” इससे पहले जद (यू) विधायक दल की बैठक हुई । सूत्रों ने बताया कि इस बैठक में नीतीश कुमार को पार्टी विधायक दल का नेता चुना गया।

भाजपा नेता एवं पूर्व मंत्री प्रेम कुमार ने संवाददाताओं को बताया कि वह उपमुख्यमंत्री पद के लिये कोई दावेदारी नहीं कर रहे हैं और उन्हें जो भी दायित्व दिया जायेगा, उसे पूरा करेंगे । उन्होंने कहा कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर बिहार के सपने को साकार करने के लिये प्रतिबद्ध है। प्रेम कुमार ने कहा कि राजग में सर्वसम्मति से निर्णय कर लिया जायेगा कि कौन नेता होगा और कौन उपमुख्यमंत्री ।

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button