NMDC: दो दिवसीय राष्ट्रीय स्तर सेमिनार आज से प्रारंभ…

माइनिंग सेक्टर के डेवलमेंट और स्टील इंडस्ट्री को मजबूत करने की जा रही कोशिश

रायपुर: एनएमडीसी का दो दिवसीय राष्ट्रीय स्तर का सेमिनार आज से रायपुर में शुरू हो गया। यह पहली बार है की राजधानी कॉरपोरेट सेक्टर के इतने बड़े सेमिनार की मेजबानी कर रहा है।

छत्तीसगढ़ कैडर के IAS और मौजूदा वाक्त में NMDC के सीएमडी एन बैजेंद्र कुमार के नेतृत्व में हो रहे इस शानदार आयोजन का मकसद मौजूदा दौर में माइनिंग के साथ-साथ जिम्मेदारी और स्टील व आयरन सेक्टर के डेवलपमेंट और निवेश के रास्ते खोजना है।

NMDC के सीएमडी बनने के बाद एन बैजेंद्र कुमार ने कई वो नयी पहल की है, जो NMDC के साथ-साथ देश के स्टील सेक्टर के लिए वरदान साबित हो रही है। आज के भी सेमिनार में भी राष्ट्रीय और प्रादेशिक स्तर पर स्टील और माइनिंग के सेक्टर के डेवलपमेंट पर पूरे दो दिन तक चर्चा होगी

एनएमडीसी
एनएमडीसी

साथ ही यंग इंजीनियर्स से वो मार्डन टेक्नोलॉजी के संदर्भ में सुझाव भी लिये जायेंगे। पूरे दो दिन के सत्र में अनुभवी स्पेशलिस्ट और इंजीनियर्स स्टूडेंट के साथ बातचीत के जरिये एनएमडीसी स्टील सेक्टर को नयी और आधुनिक दिशा देने की तैयारी में हैं। विभिन्न खनन उद्योगों तथा सरकारी एजेंसियोंं के अधिकारी तथा विभिन्न संगठनों से जुड़े लोग इसमें भाग लेंगे।

इस अवसर पर एक औद्योगिक प्रदर्शनी भी आयोजित की गयी है जिसमें सभी प्रतिभागी संस्थाओं को अपनी प्रौद्योगिकी, टिकाऊ खनन पद्धतियों, सी एस आर पहलों, आदि का मॉडलों,पोस्टरों तथा दृश्य- श्रृव्य माध्यमों से प्रदर्शित करने का अवसर प्राप्त होगा। यह संगोष्ठी एनएमडीसी द्वारा अपने हीरक जयंती वर्ष के दौरान आयोजित किए जा रहे विभिन्न कार्यक्रमों का एक हिस्सा है।

NMDC
NMDC

आज केंद्रीय राज्य मंत्री विष्णुदेव साय, मंत्री अमर अग्रवाल, NMDC के सीएमडी एन. बैजेंद्र कुमार, निदेशक (उत्पादन) पीके.सतपथी, एस्सेल माइनिंग एण्ड इंडस्ट्रीज लिमिटेड तथा अध्यक्ष फिक्की माइनिंग कमेटी के प्रबंध निदेशक तुहिन मुखर्जी संगोष्ठी का उदघाटन किया। कल इस दो दिवसीय सेमिनार का समापन किया जायेगा।

Back to top button