एनएमडीसी के नगरनार स्टील प्लांट का नहीं होगा निजीकरण

- भारत सरकार ने पत्र भेजकर छत्तीसगढ़ सरकार को दी जानकारी

रायपुर।

एनएमडीसी के नगरनार स्टील प्लांट का अब निजीकरण नहीं होगा। बता दें कि भारत सरकार ने पत्र भेजकर छत्तीसगढ़ सरकार को जानकारी दी है। एनएमडीसी के नगरनार स्टील प्लांट के निजीकरण को लेकर चल रहा कवायद अब सामाप्त हो गया है।

जिसमें साफ कहा गया है कि छत्तीसगढ़ के नगरनार का निजीकरण नहीं किया जायेगा. उसे अब पहले की तरह एनएमडीसी प्रबंधन की तरफ से ही संचालित किया जाएगा. यह पत्र भारत सरकार उद्योग मंत्रालय के डिप्टी सेक्रेटरी जीपी मीणा ने छत्तीसगढ़ के उद्योग विभाग के ज्वाइंट सेक्रेटरी यशवंत कुमार को भेजा है.

इससे पहले छत्तीसगढ़ सरकार ने 19 जुलाई को पत्र भेजकर भारत सरकार से निजीकरण की प्रक्रिया का विरोध जताया था. छत्तीसगढ़ सरकार ने विरोध जताते हुए कहा था कि छत्तीसगढ़ के नगरनार स्टील प्लांट का निजीकरण नहीं किया जाए.

इंटर मीनिस्ट्रियल ग्रुप ने छत्तीसगढ़ के विरोध के बाद निजीकरण नहीं किये जाने की सिफारिश भारत सरकार को भेजी थी. उस सिफारिश के बाद अब भारत सरकार ने इस बात का फैसला किया है कि नगरनार स्टील प्लांट के प्रबंधन में किसी भी तरह का कोई बदलाव नहीं किया जायेगा.

पहले की तरह ही इस स्टील प्लांट को एनएमडीसी के द्वारा संचालित किया जाएगा.
बता दें कि नगरनार स्टील प्लांट का निर्माण बहुत ही विस्तार पैमाने पर किया गया है.

अभी तक की तैयारी यह बता रही है कि नगरनार में प्रोड्क्शन नवंबर से शुरू हो जाएगा. प्लांट शुरू करने की तैयारी के मद्देनजर भर्तियां भी शुरू हो गई है. इसलिए ये बात अब एनएमडीसी के साथ-साथ नगरनार के लिए भी राहत देने वाली है.

Tags
Back to top button