एंबुलेंस का नहीं वसूल सकते मनमाना किराया, कई राज्य सरकारों ने तय किए रेट

दिल्ली में एंबुलेंस का किराया फिक्स कर दिया गया है।

नई दिल्ली । कोरोनाकाल में मेडिकल सुविधाओं को लेकर लगातार दवाब बढ़ता जा रहा है। कोरोना के नए स्ट्रेन के सामने आने के बाद कई राज्यों में हालात बिगड़ते जा रहे हैं। अस्पतालों में बेड समेत अन्य सुविधाओं का भारी टोटा है । वहीं एंबुलेंस और अन्य मेडिकल सुविधाओं को लेकर कुछ लोग कालाबाजारी और मनमाना किराया वसूल रहे हैं। लगातार मिल रहीं शिकायतों के बीच कई राज्य सरकारों ने एंबुलेंस किराए की दर तय कर दीं हैं।

दिल्ली में एंबुलेंस का किराया फिक्स कर दिया गया है। सीएम केजरीवाल ने खुद ट्वीट कर कहा कि दिल्ली में निजी एंबुलेंस अवैध तरीके से अधिक किराया वसूल रहे हैं। इस वजह से एंबुलेंस किराया की दर तय कर दी गईं हैं। निर्देशों की अव्हेलना करने पर एंबुलेंस संचालक के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

दिल्ली में एंबुलेंस का किराया

पेशेंट ट्रांसपोर्ट एंबुलेंस 1500 रुपये प्रति 10 किमी इसके बाद 100 रुपये प्रति किमी
बेसिक लाइफ सपोर्ट एंबुलेंस 2000 रुपये प्रति 10 किमी इसके बाद 100 रुपये प्रति किमी
एडवांस्ड लाइफ सपोर्ट एंबुलेंस 4000 रुपये प्रति 10 किमी इसके बाद 100 रुपये प्रति किमी

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के अलावा बिहार और हरियाणा की सरकारों ने एंबुलेंस के दाम तय कर दिए हैं।

बिहार सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने एंबुलेंस का किराया तय कर दिया है। इस संबंध में बुधवार को आदेश जारी कर दिए गए हैं।

वाहन 50 किमी तक 50 किमी से अधिक पर
SMALL कार 1500 18 रुपये प्रति किमी
SMALL कार (AC) 1700 18 रुपये प्रति किमी
बोलेरो/मार्शल (सामान्य)/सूमो 1800 18 रुपये प्रति किमी
बोलेरो/सूमो/मार्शल (AC) 2100 18 रुपये प्रति किमी
मैक्सी/विंगर/सिटी राइडर/ टेम्पो 2500 25 रुपये प्रति किमी (14-22सीट)
जाइलो/स्कॉर्पियो/क्वालिस/टवेरा (AC) 2500 25 रुपये प्रति किमी

गुरुग्राम में एंबुलेंस के तय हुए रेट

गुरुग्राम जिला प्रशासन ने गुरुग्राम में मरीजों और शवों को ले जाने वाली एंबुलेंस व अन्य वाहनों का अधिकतम किराया फिक्स कर दिया है। इसके तहत 3 किमी तक की दूरी के लिए 500 रु तय किया गया है, वहीं, इसके बाद यह 25 रु प्रति किमी होगा।

3 किलोमीटर से 7 किलोमीटर की दूरी के लिए 750 रु और इसके बाद 25 रु प्रति किमी के लिए शुल्क लिया जाएगा। 7 किमी से अधिक के लिए 1000 रु और इसके बाद 25 रु प्रति किमी होगा।

झारखंड में फिक्स किए गए रेट

झारखंड सरकार ने भी प्रायवेट एंबुलेंस का किराया तय किया है। इसके तहत सामान्य एंबुलेंस (बिना वेंटिलेटर) के यात्रा के आरंभ से अधिकतम 10 किलोमीटर तक की दूरी के लिए 500 रु का शुल्क तय किया गया है। 10 किलोमीटर के बाद तय दूरी अधिकतम 12 रु प्रति किलोमीटर के दर तय होगी। वेंटिलेटर सहित एडवांस एंबुलेंस के लिए अधिकतम 10 किलोमीटर तक के लिए 600 रु तय किया गया है। 10 किलोमीटर के बाद तय दूरी की गणना प्रति किलोमीटर अधिकतम 14 रु की दर से की जाएगी।

राजस्थान की गहलोत सरकार ने भी तय की दर

राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार ने एंबुलेंस वाहनों के लिए किराया तय कर दिया है। इसके अनुसार, पहले 10 किलोमीटर के लिए 500 रु तय किए गए हैं। इसके अलावा, PPE किट और सेनिटेशन के लिए 350 का अतिरिक्त शुल्क लिया जा सकता है। आदेश के अनुसार, पहले 10 किमी के लिए एम्बुलेंस 10 किमी के बाद, मारुति वैन, महिंद्रा मार्शल, महिंद्रा मैक्सएक्स, आदि जैसे वाहनों का किराया 12.50 प्रति किम और टवेरा, इनोवा, बोलेरो, आदि के लिए प्रति किमी 14 रुपया तय किया गया है. वहीं, बड़े वाहनों के लिए 17.50 प्रति किमी तय किया गया है।

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button