छत्तीसगढ़राजनीति

मुख्यमंत्री पद का मोह नहीं, अगर आलाकमान कहेंगे तो दे देंगे इस्तीफा: सीएम बघेल

अपने बयान के ज़रिए मुख्यमंत्री बघेल ने दो बातें साफ कर दी

रायपुर: छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरगुजा के दौरे पर हैं वहीँ टीएस सिंहदेव दिल्ली के दौरे पर हैं. वे 13 दिसबंर को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के साथ तब शामिल होंगे जब बघेल बलरामपुर, सूरजपुर और कोरिया का दौरा कर चुके होंगे. सरगुजा में मुख्यमंत्री के कार्यक्रम की ज़िम्मेदारी मंत्री अमरजीत भगत ने संभाल रखी है.

वहीँ इस दौरे से पहले मुख्यमंत्री ने टीएस सिंहदेव के मुख्यमंत्री पद को लेकर दो दिन पहले दिए बयान पर अपनी प्रतिक्रिया दी है. बघेल ने बिना किसी का नाम लिए कहा कि अगर आलाकमान कहेगा तो वे फौरन इस्तीफा दे देंगे. लेकिन अगर कोई गलतफहमी पैदा करता है, चाहे वो कोई भी हो, उसे सचेत रहना चाहिए. वो प्रदेश का हित नहीं कर रहा है.

बघेल ने कहा कि उन्हें मुख्यमंत्री पद का मोह नहीं है. उन्होंने कहा कि इस बात का बतंगड़ बनाने की आवश्यकता क्या है. जिन्हें विकास होते देख तकलीफ हो रही है वो ही इस प्रकार की बात कर रहे हैं.

गौरतलब है कि दो दिन पहले ढाई साल को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में टीएस सिंहदेव ने बिलासपुर में कहा था कि मुख्यमंत्री दो दिन के भी होते हैं और 15 साल के भी. उन्होंने कहा कि सब आलाकमान की इच्छा पर निर्भर करता है.

गौरतलब है कि जब से सरकार बनी है तब से इस बात की चर्चा है कि भूपेश बघेल और टीएस सिंहदेव दोनों ढाई-ढाई साल के मुख्यमंत्री होंगे. टीएस सिंहदेव के बयान को इसी संदर्भ में देखा जाता है.

इस मसले पर भूपेश बघेल ने इससे पहले कोई बयान नहीं दिया था. ये पहली बार है जब उन्होंने कुछ कहा है. अपने बयान के ज़रिए मुख्यमंत्री बघेल ने दो बातें साफ कर दी हैं. पहली बात कि वे आलाकमान की निर्देश पर जिम्मेदारी ली है. लिहाज़ा आगे वही होगा जो आलाकमान की इच्छा होगी. दूसरी बात, उन्होंने बाकी सियासी अटकलों को गलतफहमी करार दिया है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button