वेदांता हॉस्पिटल को नहीं दी गई कोई रियायत : कांवरे

नया रायपुर:नया रायपुर में बनने वाले वेदांता हॉस्पिटल को व्यवसायिक घोषित करने के राजनीतिक दलों के आरोपों का सिलेसिलेवार जवाब देते हुए एनआरडीए के महाप्रबंधक एमडी कावरे ने साफ किया है कि पहले भी वेदांता मेडिकल रिसर्च फाउंडेशन.

कम्पनीज एक्ट 1956 के सेक्शन 25 के अधीन गठित गैर व्यव्यसायिक संस्थान है और इसे नो प्रॉफिट नो लॉस पर ही संचालित किया जाएगा। आज वेदांता ने उद्घाटन कार्यक्रम में भी स्पष्ट किया गया है कि वेदांता.

href=”https://www.clipper28.com/hi/major-action-on-illegal-drug-dealers-6-medical-stores-seal/”>मेडिकल रिसर्च फाउंडेशन द्वारा इस अस्पताल को नो प्रॉफिट पर संचालित किया जाएगा।

कांवरे ने कहा कि नया रायपुर डेवलपमेंट अथॉरिटी द्वारा बिना पूर्णता प्रमाण पत्र के अस्पताल में मशीनें कैसे लगाई गई वस्तुस्थिति यह है कि नया रायपुर डेवलपमेंट अथॉरिटी द्वारा वेदांता मेडिकल रिसर्च फाउंडेशन को अस्पताल निर्माण के लिए संसोधित भवन अनुज्ञा जारी की गई थी.

जिसके आधार पर अस्पताल का निर्माण किया गया तथा निर्माण पूरा किए जाने पर नियमानुसार प्रोजेक्ट आर्किटेक्ट एवं अग्निशमन विभाग द्वारा एनओसी देने के उपरांत उन्हें नया रायपुर डेवलपमेंट अथॉरिटी द्वारा दिनांक 12 फरवरी 2018 को पूर्णता प्रमाण पत्र दिया गया है इस पूर्णता प्रमाण पत्र में भी नया रायपुर डेवलपमेंट अथॉरिटी द्वारा वेदांता मेडिकल रिसर्च फाउंडेशन को व्यवसायिक अस्पताल की अनुमति नहीं दी गई है।

उन्होेंने कहा कि भूमि आवंटन रद्द होने के मामले में कहा कि राज्य शासन स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के साथ वेदांता मेडिकल रिसर्च फाउंडेशन का 17 सितंबर 2009 में एमओयू हुआ था जिसके आधार पर 3 नवंबर 2011 को वेदांता मेडिकल रिसर्च फाउंडेशन के साथ नया रायपुर के सेक्टर 36 में 50 एकड़ भूमि दिए जाने के लिए किया गया था.

वेदांता मेडिकल रिसर्च फाउंडेशन द्वारा समय पर शर्तों को पूरा ना करने के कारण राज्य शासन द्वारा केवल एमओयू को निरस्त किया गया जिसके पश्चात वर्तमान में प्रचलित नियम के अनुसार नया रायपुर डेवलपमेंट अथॉरिटी द्वारा स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए नियत भूमि का प्रीमियम दर गणना कर नियमानुसार प्रीमियम का अधिरोपण किया गया है.

नया रायपुर डेवलपमेंट अथॉरिटी द्वारा भूमि आवंटन के लिए छत्तीसगढ़ विशेष क्षेत्र अचल संपत्ति का नियम 2008 के अनुसार ट्रस्ट,सोसाइटी तथा नॉन प्रॉफिट कंपनी के लिए नियम 14 के तहत सीधे आवंटन किया जाता है,

इसी नियमानुसार वेदांता मेडिकल रिसर्च फाउंडेशन को आवंटित किया गया है। इसके साथ ही वेदांता मेडिकल रिसर्च फाउंडेशन पर लीज 3 नवंबर 2011 से वर्तमान तक तत्कालीन प्रचलित प्रीमियम पर भू-भाटक और 15% वार्षिक पेनाल्टी ली गई है।

उन्होंने बताया कि वेदांता मेडिकल रिसर्च फाउंडेशन को एमओयू निरस्त होने के बाद वर्तमान प्रचलित प्रीमियम दर के आधार पर पूरी राशि ली जा रही है एवं कोई रियायत नहीं गई है। अन्य संस्थानों के लिए भी नया रायपुर में इसी दर पर स्वास्थ सेवाओं के विकास के लिए भूमि उपलब्ध है।

advt
Back to top button