एयर इंडिया में किसी भी कर्मचारी की नौकरी नहीं जाएगी

ऐसी खबरें आ रही हैं कि सरकार एयर इंडिया का प्राइवेटाइजेशन कर सकती हैं

एयर इंडिया में किसी भी कर्मचारी की नौकरी नहीं जाएगी

सरकार ने लोकसभा में यह साफ कर दिया कि एयर इंडिया में अपनी हिस्सेदारी बेचते हुए भी यह ध्यान रखा जाएगा कि इसकी हालत किंगफिशर की तरह ना हो. इसमें किसी भी कर्मचारी की नौकरी नहीं जाएगी.

एविएशन मिनिस्टर अशोक गजपति राजू ने लोकसभा में केसी वेणुगोपाल के सवाल के जवाब में कहा, हम नहीं चाहते कि एयर इंडिया का हाल किंगफिशर की तरह हो जहां किसी को फायदा नहीं हुआ. हम चाहते हैं कि एयर इंडिया चलती रही. इसके कर्मचारियों, यात्रियों की सेवा करना चाहते हैं. यह ऊंची उड़ान भरती रहे.

केसी वेणुगोपाल ने प्रश्नकाल में कहा कि खबरें हैं कि एयर इंडिया का निजीकरण किया जा रहा है. विनिवेश प्रक्रिया चल रही है. इसे लेकर एयर इंडिया के कर्मचारियों में बहुत आशंकाएं हैं.

इस पर राजू ने कहा, ‘मैं सदस्य की आशंकाओं को दूर करने के लिए कहना चाहूंगा कि यह बहुत महत्चपूर्ण विषय है. कोई नहीं चाहता कि कोई भी कर्मचारी बेरोजगार हो.’ उन्होंने कहा कि एयर इंडिया के लिए एक वैकल्पिक प्रणाली पर विचार विमर्श की अगुवाई वित्त मंत्री अरुण जेटली कर रहे हैं. अगर एयर इंडिया के लिए कोई सुझाव हैं तो सदस्य बता सकते हैं. सरकार उस पर विचार करेगी.

रीजनल कनेक्टिविटी से संबंधित उड़ान योजना से संबंधित एक सवाल पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि उड़ान योजना के पहले चरण में 31 हवाईअड्डें तैयार हो चुके हैं जिनमें से 14 में परिचालन चल रहा है. दूसरे चरण में करीब 41 और विमानपत्तनों को संचालित करने की योजना है.

advt
Back to top button