फिल्मी दुनिया में किसी भी गॉडफादर की जरूरत नहीं: जेडी राउत

फिल्म उद्योग में रास्ता तलाशना सदैव से ही मुश्किल रहा है। यदि इंसान में कुछ करने की ललक हो तो वह मुकाम हासिल कर सकता है। यह कहना है मात्र 26 साल की उम्र में बतौर निर्माता और निर्देशक अपनी पहचान बनाने वाले जेडी राउत का।

राउत बताते हैं कि फिल्मी दुनिया में प्रवेश के लिए किसी गॉडफादर या सिनेमाई पृष्ठभूमि होना जरूरी नहीं हैं, प्रतिभा के बूते ग्लैमर की चकाचौंध में वजूद बना सकते हैं।

इसे सार्थक करने के लिए  है आप खुद बालीवुड में करियर बनाने के इच्छुक युवाओं को तराश कर फिल्मों में मौका दे रहे हैं। इसके लिए उनका खुद का जेडी राउत प्रोडक्शन हाउस है। फिलहाल जेडी बॉलीवुड फिल्म निर्माता के तौर पर हिंदी फीचर फिल्म कॉलेज डेज़ एंड वन टेलिफिल्म में व्यस्त है।

सिने पृष्ठभूमि से अलग लेकिन ग्लैमरी चकाचौंध के शौकीन जेडी बताते हैं कि युवा फिल्म निर्माता के तौर पर पहचान बनाना मुश्किल है। आप बताते हैं कि मेरे पास फिल्म बनाने का कोई आधार तक नहीं था मौका मिला तो जोश के साथ शॉट दिया। इस शॉट ने मेरी सोच बदल दी और मुझे नायक की बजाय निर्माता के रूप में खुद को काबिज करने का मौका मिला।

फिल्मी पृष्ठभूमि नहीं होने से खुद का प्रोडक्शन हाउस बनाया। हालांकि  फिल्में कैसे बनती है, शॉट कैसे लेते हैं, कलाकार से किस अंदाज में किस एंगल से प्रस्तुति लेना है के बारे में जानते तक नहीं थे लेकिन जज्बा था खुद की पहचान बनाने का। सो जुटे ओर बतौर फिल्म निर्माता खुद की पहचान बनाई।

advt
Back to top button