अंतर्राष्ट्रीय

क्राउन प्रिंस और इजराइली प्रधानमंत्री के बीच नहीं हुई कोई ‘ख़ुफ़िया मीटिंग’: सऊदी

मुलाकात की खबर का खंडन करते हुए सऊदी अरब ने कहा

सऊदी:इजराइली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतान्याहू और सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्‍मद बिन सलमान और अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो की मुलाकात की खबर का खंडन करते हुए सऊदी अरब ने कहा कि इन लोगों के बीच कोई ‘ख़ुफ़िया मीटिंग’ नहीं हुआ है.

मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा था कि बेंजामिन नेतन्‍याहू रविवार को सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्‍मद बिन सलमान और अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो से म‍िलने के लिए निओम शहर पहुंचे. इस दौरान इजरायली खुफिया एजेंसी मोसाद के चीफ योस्‍सी कोहेन भी मौजूद थे.

चारों लोगों के बीच यह अत्‍यंत गोपनीय बैठक सऊदी अरब के निओम शहर में होने का अदावा किया गया था. इजरायली पीएम के कार्यालय ने इस बैठक के बारे में कोई टिप्‍पणी नहीं की है लेकिन उनके विमान को सऊदी अरब जाते हुए ट्रैक किया गया है. अमेरिका सऊदी अरब और इजरायल के बीच संबंधों को सामान्‍य बनाने पर लगातार जोर दे रहा है और इस सबको लेकर पहली बार इतने उच्‍च स्‍तर पर बैठक हुई है.

सऊदी अरब ने क्या कहा? सऊदी अरब के विदेश मंत्री प्रिंस फैसल बिन फरहान अल सउद ने सोमवार को ट्वीट किया- मैंने ऐसी मीडिया रिपोर्ट्स देखीं हैं जिनमें क्राउन प्रिंस और इजराइली अधिकारियों के बीच अमेरिकी विदेश मंत्री की यात्रा के दौरान ‘ख़ुफ़िया मीटिंग’ होने का दावा किया गया है. ऐसी कोई मीटिंग नहीं हुई है.

इस बैठक में सिर्फ अमेरिका और सऊदी के अधिकारी ही मौजूद थे. बता दें कि इजरायल अखबार हारित्‍ज के मुताबिक यह वही प्‍लेन है जिसके जरिए इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्‍याहू कई बार रूस के राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन से मुलाकात कर चुके हैं.

अमेरिकी विदेश मंत्री काफी समय से इस प्रयास में हैं कि खाड़ी देश इजरायल के साथ संबंधों को सामान्‍य बनाएं ताकि ईरान के खतरे से निपटा जा सके. सऊदी अरब ने अब तक इजरायल के साथ संबंध सामान्‍य बनाने का खंडन किया है. सऊदी अरब ने कहा है कि फलस्तिनीयों के मुद्दे का पहले समाधान होना चाहिए.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button