भारत की तरफ से पहले सैन्य कार्रवाई नहीं की गई: राजनाथ सिंह

चीन ने एलआईसी की यथास्थिति को बदलने की कोशिश की

नई दिल्ली: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि शांति बहाल करने के लिए कई समझौते किए गए. चीन औपचारिक सीमाओं को नहीं मानता. उसकी कथनी और करनी में फर्क है. हमारे जवानों ने चीन को भारी क्षति पहुंचाई है. चीन ने एलआईसी की यथास्थिति को बदलने की कोशिश की.

राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत की तरफ से पहले सैन्य कार्रवाई नहीं की गई, जबकि चीन की तरफ से की गई है, लेकिन हमने उनके इरादों को कामयाब नहीं होने दिया. राजनाथ सिंह ने कहा कि हम इस मुद्दे को शांतिपूर्वक ढंग से सुलझाना चाहते हैं और हम चाहते हैं कि चीनी पक्ष हमारे साथ मिलकर काम करें.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि चीन ने पिछले कई दशकों में सीमावर्ती क्षेत्रों में अपनी तैनाती क्षमताओं को बढ़ाने के लिए महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचा निर्माण गतिविधि की. हमारे सरकार ने भी सीमावर्ती बुनियादी ढांचे के विकास के लिए बजट को पिछले स्तरों से लगभग दोगुना कर दिया है.

cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button