किसी को भी डरने की जरूरत नहीं, 2022 के चुनाव में हमें अच्छे नतीजे प्राप्त होंगे : प्रियंका गांधी

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने लखनऊ में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा

लखनऊ:उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि आज हमारा संगठन न्याय पंचायत स्तर तक पहुंच चुका है। इसे ग्राम पंचायत स्तर तक पहुंचाना है।

उन्होंने कहा कि किसी को भी डरने की जरूरत नहीं है। छह महीने जी-जान लगाकर काम करें 2022 के चुनाव में हमें अच्छे नतीजे प्राप्त होंगे। उन्होंने कहा कि 2019 के बाद से कांग्रेस के लोगों ने ही यूपी की जनता के सवाल उठाए हैं। जनता की मदद की है।

उन्होंने कहा कि यह डेढ़ साल की मेहनत का ही नतीजा है कि इतनी बड़ी संख्या में आप लोग यहां इक_ा हुए हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में खुद की परवाह किए बिना कांग्रेस कार्यकर्ता जनता के लिए काम करता रहा।

उन्होंने कार्यकर्ताओं का आह्वान करते हुए कहा कि आज अगर कांग्रेस के संगठन में नई ऊर्जा आई है तो आप लेकर आए हैं। चुनाव तक हम लगातार काम करेंगे और नतीजों से लोगों को आश्चर्यचकित कर देंगे। इसके पहले शनिवार को प्रियंका गांधी लखीमपुर खीरी के पसगवां ब्लॉक गईं। वहां प्रियंका ने समाजवादी पार्टी की उस महिला उम्मीदवार से भेंट की जिनके साथ ब्लॉक प्रमुख चुनाव के दौरान अभद्रता की गई थी।

हालांकि सपा नेता क्रांति सिंह ने कहा कि उन्हें या उनकी प्रत्याशी को प्रियंका के आने की कोई सूचना नहीं थी। रात में पुलिस द्वारा जानकारी दी गई थी। वहीं, प्रियंका ने महिला से भेंट कर उन्हें न्याय दिलाने का भरोसा दिलाया और कहा कि वो चुनाव आयोग को पत्र लिखेंगी और जहां-जहां हिंसा हुई है वहां के ब्लॉक प्रमुख चुनाव को रद्द करने की मांग करेंगी।

प्रियंका गांधी ने यूपी सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि आठ जुलाई को ब्लॉक प्रमुख के नामांकन के दौरान महिला प्रत्याशी से बदसलूकी की जाती है और पुलिस खड़ी-खड़ी देखती रहती है।

उन्होंने कहा कि जिस अकेले सीओ ने पीडि़तों को बचाने की कोशिश की सरकार ने उसे ही निलंबित कर दिया। बाकी अधिकारी जो खड़े थे उनको कुछ नहीं किया। लखीमपुर खीरी के दौरे के बाद प्रियंका वापस लखनऊ लौट आईं और कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संबोधित किया।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button