आतंकियों की खैर नहीं, भारत-पाक पहली बार करेंगे संयुक्त सैन्य अभ्यास

मॉस्कोः रूस में शंघाई सहयोग संगठन (SCO) के एक बड़े आतंकवाद रोधी अभ्यास में भारत और पाकिस्तान की सेनाएं पहली बार हिस्सा लेंगी। इसका उद्देश्य आतंकवाद और चरमपंथ की बढ़ती बुराई से निपटने के लिए SCO के सदस्य देशों के बीच सहयोग बढ़ाना है। पिछले साल जून में एससीओ का पूर्ण सदस्य बनने के बाद भारती पहली बार इस अभ्यास में हिस्सा ले रहा है।

एससीओ की पहल के तौर पर हर दूसरे साल SCO किया जा रहा है। चीनी मीडिया के अनुसार अभ्यास में चीन, रुस, कजाखस्तान, ताजिकिस्तान, किर्गिजस्तान, भारत और पाकिस्तान के कम से कम 3000 सैनिक हिस्सा लेंगे।

चीन की सरकारी मीडिया ग्लोबल टाईम्स के अनुसार उजबेकिस्तान के 10 प्रतिनिधि पर्यवेक्षक की भूमिका में होंगे। नई दिल्ली में रक्षा मंत्रालय द्वारा जारी एक विज्ञप्ति के अनुसार 200 सदस्यीय भारतीय दल में इंफैंट्री के सैनिक और वायुसेना के कर्मी सहित अन्य सैन्य कर्मी शामिल हैं।

Back to top button