छत्तीसगढ़

विधानसभा निर्वाचन के लिए नामांकन पत्र 26 अक्टूबर से दाखिल किए जाएंगे

-कलेक्टर ने ली राजनीतिक दलों के पदाधिकारियों की बैठक

मनीष शर्मा

मुंगेली।

कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डी. सिंह ने आज बुधवार को कलेक्टोरेट स्थित मनियारी सभाकक्ष में राजनीतिक दलों के पदाधिकारियों की बैठक लेकर निर्वाचन आयोग के निर्देशों के संबंध में विस्तृत जानकारी दी।

उन्होने बताया कि विधानसभा निर्वाचन 2018 के अंतर्गत द्वितीय चरण में कलेक्टोरेट में 26 अक्टूबर 2018 से प्रातः 11 बजे से अपरान्ह 3 बजे तक नामांकन पत्र दाखिल कर सकेंगे। उन्होने बताया कि 26 अक्टूबर को निर्वाचन हेतु अधिसूचना जारी होगी। इसी के साथ ही अभ्यर्थी अपना नामांकन पत्र दाखिल करेंगे। नामांकन पत्र दाखिल करने की अंतिम तिथि 02 नवम्बर है तथा 03 नवम्बर को नामांकन पत्रों की समीक्षा स्कूटनी) की जाएगी। 05 नवम्बर 2018 को अपरान्ह 3 बजे तक नामांकन पत्र वापस ले सकेंगे।

कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि उम्मीदवार प्रातः 11 बजे से अपरान्ह 3 बजे तक नामांकन दाखिल कर सकेंगे। मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों के अभ्यर्थियों को एक प्रस्तावक और अन्य एवं निर्दलीय अभ्यर्थी को दस प्रस्तावक की जरूरत पड़ेगी। नाम निर्देशन पत्र प्रस्तुत करते समय सौ मीटर की परिधि में तीन वाहन ही रख सकेंगे।

मेन गेट से पैदल चलकर रिटर्निंग ऑफिसर कक्ष में आना होगा। नामांकन दाखिल करने के लिए उम्मीदवार सहित पांच व्यक्ति को ही प्रवेश की अनुमति रहेगी। सामान्य निर्वाचन क्षेत्र के उम्मीदवारों को 10 हजार रूपये और अनुसूचित जाति, जनजाति निर्वाचन क्षेत्र के उम्मीदवारों को 5 हजार रूपये प्रतिभूति राशि जमा करना होगा। विधानसभा निर्वाचन में उम्मीदवार 28 लाख रूपये तक खर्च कर सकेंगे। बैठक में बताया गया कि उम्मीदवारों को दो बाई ढ़ाई सेमी की सफेद कलर में तीन फोटो देना होगा। फोटो तीन माह से अधिक पुराना नहीं होना चाहिये। उम्मीदवारों को नामांकन दाखिल करने के एक दिन पूर्व किसी भी बैंक में खाता खुलवाना होगा। अभ्यर्थी इलेक्शन एजेंट के साथ संयुक्त खाता खुलवा सकता है। अपने परिवार सदस्य के साथ संयुक्त खाता नहीं खुलवा सकेंगे।

राजनीतिक दलों के पदाधिकारियों को अवगत कराया गया कि नामांकन पत्र के साथ शपथ पत्र देनी होगी। प्रत्येक दिन दोपहर 3 बजे के बाद नाम निर्देशन दाखिल करने वाले उम्मीदवारों का नाम सूचना पटल पर चस्पा की जायेगी। अनुसूचित जाति एवं जनजाति के उम्मीदवारों को जाति प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होगा। विधानसभा निर्वाचन लड़ने वाले अभ्यर्थियों को भारत का नागरिक होना चाहिए।

बैठक में बताया गया कि नामांकन पत्र वापसी के अंतिम तिथि के पश्चात उसी दिन उम्मीदवारों को प्रतीक चिन्ह आबंटित की जाएगी। मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों के लिए पहले से प्रतीक चिन्ह आरक्षित है। अन्य राज्यों में मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों के उम्मीदवारों एवं निर्दलीय उम्मीदवारों को मुक्त प्रतीक चिन्ह आबंटित किए जाएंगे। अभ्यर्थियों को मतदान के 48 घंटे पूर्व प्रिंट मिडिया में समाचार प्रकाशित कराने के लिए मिडिया प्रमाणन समिति से अनुमति लेनी होगी।

इस मौके पर भारतीय जनता पार्टी के मानसिंह मोहले, प्रकाश जैन, इंडियन नेशनल कांग्रेस के आत्मा सिंह क्षत्रिय, बहुजन समाज पार्टी के लखन बांधड़े सहित जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी लोकेश चंद्राकर, उप जिला निर्वाचन अधिकारी राजेश नशीने, मुंगेली एसडीएम अमित गुप्ता सहित अन्य राजनीतिक दलों के पदाधिकारी उपस्थित थे.

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय में नियंत्रण कक्ष स्थापित

भारत निर्वाचन आयोग के सी-विजिल एप सिटिजन विजिल एप) पर लोगों की शिकायतों पर तेजी से कार्रवाई की जा रही है। एप के शुरू होने के बाद सी-विजिल पर मिलने वाली शिकायतों के निराकरण के लिए मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय में अलग से नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है।

राज्य में विधानसभा निर्वाचन – 2018 के दौरान आदर्श आचार संहिता का पालन सुनिश्चित कराने के हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी साहू ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग ने विधानसभा निर्वाचन के दौरान एंड्रायड आधारित एप शुरू कर आचार संहिता के उल्लंघन पर त्वरित कार्रवाई के लिए सीधे आयोग को शिकायत पहुँचाने की व्यवस्था की है।

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि इस एप के जरिए निर्वाचन प्रक्रिया के दौरान होने वाली गड़बड़ी की तस्वीर और वीडियो को भेजा जा सकता है। निर्वाचन के दौरान अगर किसी भी मतदाता को यह दिखता है कि आचार संहिता का उल्लंघन हो रहा है तो वे इस एप पर अपनी शिकायत भेज सकते हैं। इसके लिए शिकायतकर्ता फोन पर सी-विजिल एप्लिकेशन डाउन लोड कर सीधे घटना की फोटो या वीडियो अपलोड कर सकते हैं। मतदाता को रिझाने के लिए कोई उपहार बांटने, भड़काऊ भाषण देने समेत ऐसे ही किसी अन्य मामलों की शिकायत इस एप के माध्यम से की जा सकती है।

मतदान केंद्रों में पेयजल, बिजली, शौचालय, छाया, रेम्प सुनिश्चित करें

कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डी. सिंह ने समस्त राजस्व अनुविभागीय अधिकारियों और जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को निर्देशित किया है कि समस्त मतदान केंद्रों में पेयजल, बिजली, शौचालय, छाया, रेम्प सुनिश्चित करें। उन्होने मतदान केंद्रों तक सड़क मरम्मत कार्य के लिए लोक निर्माण, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क एवं मुख्यमंत्री ग्राम सड़क के कार्यपालन अभियंताओं को आवश्यक निर्देश दिये है।

उन्होने जिला शिक्षा अधिकारी और खण्ड शिक्षा अधिकारियों को शालाओं में स्थित मतदान केंद्र में आवश्यक मरम्मत कार्य एवं साफ-सफाई सुनिश्चित करने निर्देश दिये है। इसी तरह नगरीय निकाय में स्थित मतदान केंद्रों के आवश्यक व्यवस्था हेतु मुख्य नगर पालिका अधिकारियों को निर्देशित किया गया है। कलेक्टर ने मतदान केंद्रों में आवश्यक सभी व्यवस्था सुनिश्चित कराने नियमित समीक्षा कर रहे है।

Summary
Review Date
Reviewed Item
विधानसभा निर्वाचन के लिए नामांकन पत्र 26 अक्टूबर से दाखिल किए जाएंगे
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags
advt