छविंद्र कर्मा, राजाराम तोड़ेम और विश्राम गावड़े ने वापस लिया नामांकन

नाम वापसी के बाद भाजपा, कांग्रेस ने ली राहत की सांस

जगदलपुर/दंतेवाड़ा।

दंतेवाड़ा की कांग्रेस प्रत्याशी देवती कर्मा के बेटे छविंद्र कर्मा ने अपना नामांकन वापस ले लिया है। इससे पहले छविंद्र कर्मा को समाजवादी पार्टी ने भी प्रत्याशी बनाने का ऐलान किया था, लेकिन छविंद्र ने निर्दलीय चुनाव भरने के लिए नामांकन दाखिल कर दिया था। नामांकन वापसी के दिन आज छविंद्र ने अपना नाम वापस ले लिया है।

इससे पहले कांग्रेस ने के तमाम बड़े नेताओं ने छविंद्र को मनाने की कोशिश की थी, लेकिन छविंद्र चुनाव लड़ने पर अडिग थे, खुद पीसीसी चीफ भूपेश बघेल ने छविंद्र से बात की थी, लेकिन फिर भी वो नामांकन पत्र भरा था।

नाम वापसी के अंतिम दिन बीजापुर से राजाराम तोड़ेम ने तो कांग्रेस से विश्राम गावड़े ने नामांकन दाखिल कर दिया। राजाराम तोड़ेम का नामांकन महेश गागड़ा के लिए बड़ी चुनौती बन सकती थी। लिहाजा मान मनौव्वल के बाद ना सिर्फ राजाराम का रुख नरम पड़ा, जिसके बाद भाजपा ने उनका निष्कासन रद्द कर दिया, तो वहीं उन्होंने भी अपना नामांकन वापस ले लिया।

वहीं कांग्रेस से बागी तेवर अपनाकर नामांकन दाखिल करने वाले विश्राम गावड़े ने भी अपना नामांकन वापस ले लिया है। विश्राम गावड़े का अंतागढ़ के कई इलाकों में अच्छी पैठ है, लिहाजा कांग्रेस विश्राम गावड़े के नामांकन से परेशान थी।

Back to top button