नोमुरा: भारत की जीवीए दर सितंबर तिमाही में 6.3% रह सकती है

वर्ष 2017 की जुलाई-सितंबर तिमाही में भारत की अर्थव्यवस्था में सुधार होने की उम्मीद है. नोमुरा की एक रपट के अनुसार इस अवधि में भारत की सकल मूल्यवर्द्धन (जीवीए) वृद्धि दर 6.3% रह सकती है.

नोमुरा के स्वामित्व सूचकांकों के अनुसार 2017 की दूसरी तिमाही में वृद्धि दर रसातल में चली गई और तीसरी तिमाही में इसमें सुधार देखा गया है. इसके पीछे अहम कारण उपभोग और निवेश के संकेतकों का तीसरी तिमाही में बेहतर होना है.

इन वजहों से सुधरे हालात
नोमुरा ने एक शोध नोट में कहा, ‘सालाना आधार पर तीसरी तिमाही में हमें जीवीए के बढ़कर 6.3% रहने की संभावना है. दूसरी तिमाही में यह 5.6% था. यह तीसरी तिमाही के लिए भारतीय रिजर्व बैंक के 6.4% अनुमान के बराबर है.’

जुलाई-सितंबर तिमाही में उपभोग संबंधी संकेतक मजबूत हुए हैं. मानसून खराब रहने के बावजूद त्योहारी खरीद के चलते ट्रैक्टर और दोपहिया वाहनों की बिक्री से ग्रामीण उपभोग भी बेहतर हुआ है. साथ ही मुद्रा के बाजार में फिर से आने से नकदी का स्तर भी बेहतर हुआ है.

इसके अलावा शहरी उपभोग संकेतक जैसे कि यात्री वाहन बिक्री और उपभोक्ता लोन का प्रदर्शन सितंबर तिमाही में जून तिमाही के मुकाबले बेहतर हुआ है.

Back to top button