अविश्‍वास प्रस्‍ताव : राहुल गांधी का PM मोदी पर राफेल ,JIO MSP को लेकर किए ये 15 वार

कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने लोकसभा में अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर चर्चा के दौरान पीएम मोदी पर कई वॉर किए. उन्‍होंने कहा कि मैं दिल से कहता हूं मैं प्रधानमंत्री, बीजेपी और आरएसएस का दिल से आभारी हूं कि इन्होंने मुझे कांग्रेस का, हिंदुस्तानी होने का, हिंदू होने का मतलब सिखाया और मैं इसके लिये अंदर से धन्यवाद करना चाहता हूं. आपके अंदर मेरे लिये नफरत है और इसे मैं प्यार से आपके अंदर से निकालूंगा. हम और पूरा विपक्ष मिलकर प्रधानमंत्री जी को चुनाव में हराने जा रहे हैं. राहुल गांधी ने भाषण खत्‍म करने के बाद पीएम मोदी को गले भी लगाया.

15 बातें

प्रधानमंत्री के दबाव में आकर निर्मला सीतारमण जी ने देश से झूठ बोला, किसकी मदद हो रही है प्रधानमंत्री जी और निर्मला जी देश को बताइए. इस मामले में सच्चाई ये है कि हिंदुस्तान की सरकार और फ्रांस की सरकार के बीच कोई गोपनीयता समझौता नहीं है. राफेल मामले में रक्षा मंत्री ने साफ झूठ बोला. मगर जब मैं फ्रांस की सरकार से मिला तो उन्होंने कहा कि ऐसा कुछ नहीं है आप ये बात पूरे देश को बताइए.

राफेल हवाईजहाज की हमारी डील में इसका दाम 520 करोड़ रुपये था, मगर पता नहीं क्या हुआ प्रधानमंत्री जी फ्रांस गये और जादू से हवाईजहाज का दाम 1650 करोड़ रुपये हो गया. रक्षा मंत्री ने पहले कहा कहा कि मैं इसका दाम बताउंगी लेकिन बाद में उन्होंने कहा कि फ्रांस की सरकार के साथ हिन्दुस्तान की सरकार का समझौता है इसलिये मैं दाम नहीं बता सकती.

प्रधानमंत्री को इस बात का जवाब देना चाहिए कि एचएएल से ये सौदा क्यों छीना गया और ऐसी कंपनी को क्यों दिया गया जिस पर 35 हजार करोड़ रुपये का कर्ज़ है और उसने जीवन में कभी हवाई जहाज नहीं बनाया.

प्रधानमंत्री जी ने कहा था मैं देश का चौकीदार हूं, देश की चौकीदारी करुंगा. मगर जब प्रधानमंत्री के मित्र के पुत्र 16000 गुना अपनी आमदनी बढ़ाते हैं तो प्रधानमंत्री के मुंह से एक शब्द नहीं निकलता.

जियो के विज्ञापन पर प्रधानमंत्री का फोटो आ सकता है और उन शक्तियों की प्रधानमंत्री जी मदद करते हैं. चीन 24 घंटे में 50,000 युवाओं का रोज़गार देता है, आप (सरकार) लोग 24 घंटे में 400 युवाओं को रोज़गार देते हो

कांग्रेस जीएसटी लेकर आयी थी और गुजरात के मुख्यमंत्री ने विरोध किया था. हम चाहते थे पेट्रोल और डीजल जीएसटी में हो. सूरत के लोगों ने बताया कि प्रधानमंत्री जी ने सबसे जबरदस्त चोट हमें मारी है और आज हिन्दुस्तान में बेरोज़गारी 7 साल में सबसे ज्यादा है.

जहां जाते हैं, रोज़गार की बात करते हैं. कभी कहते हैं, पकोड़े बनाओ, कभी दुकान खोलो. ये रोज़गार स्मॉल और मीडियम बिज़नेस लाएंगे… PM ने DeMonetisation (नोटबंदी) किया, शायद समझ नहीं थी कि किसान, मज़दूर, गरीब अपना धंधा कैश में चलाते हैं.

हर व्यक्ति देखता और समझता है कि प्रधानमंत्री की मार्केटिंग में कितना पैसा खर्च होता है. जो छोटे-छोटे दुकानदारों के दिल में है, किसानों के दिल में है वो प्रधानमंत्री तक नहीं पहुंचता.

हिन्दुस्तान के युवाओं ने प्रधानमंत्री जी पर भरोसा किया था। अपने भाषण में प्रधानमंत्री जी ने कहा था हर साल 2 करोड़ युवाओं को रोज़गार दूंगा:
मैं उन्हें (प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी) मुस्कुराते हुए देख रहा हूं, लेकिन उनकी आंखों में घबराहट है, और वह मुझसे नज़रें नहीं मिला रहे हैं. मैं समझ सकता हूं. वह मेरी आंखों में नहीं देख सकते, मैं यह जानता हूं, क्योंकि वह सच्चे नहीं रहे हैं.

जब भी किसी को मारा जाता है, दबाया जाता है कुचला जाता है तो वो अंबेडकर जी के संविधान पर और इस सदन पर हमला होता है. जब आपके मंत्री संविधान को बदलने की बात करते हैं तो वो पूरे हिंदुस्तान पर हमला करते हैं. जहां भी देखो कहीं न कहीं किसी न किसी हिंदुस्तानी को मारा-पीटा जा रहा है, कुचला जा रहा है और प्रधानमंत्री एक शब्द भी नहीं कहते.

पूरे देश में दलितों, आदिवासियों, अल्पसंख्यकों पर अत्याचार हो रहा है. इनको मारा-पीटा जा रहा है लेकिन प्रधानमंत्री के मुंह से एक शब्द नहीं निकलता उल्टा उनके मंत्री जाकर आरोपियों के गले में हार डालते हैं.

बाहर के देशों में ये राय है कि हिंदुस्तान पहली बार अपने इतिहास में अपनी महिलाओं की रक्षा नहीं कर पा रहा है. गैंगरेप होता है, महिलाओं पर अत्याचार होता है. पहली बार हिंदुस्तान के इतिहास में हिंदुस्तान की ऐसी साख बन रही है ऐसा इतिहास में पहले कभी नहीं हुआ.

कुछ ही दिन पहले एक नया जुमला स्ट्राइक, एमएसपी का जुमला स्ट्राइक हुआ. प्रधानमंत्री ने पूरे देश में 10 हजार करोड़ का फायदा दिया है और कर्नाटक की सरकार ने सिर्फ एक प्रदेश में 34000 करोड़ रुपये का फायदा दिया. किसान कहता है प्रधानमंत्री जी आपने हिंदुस्तान के सबसे अमीर लोगों का ढाई लाख करोड़ का कर्जा माफ किया हमारा भी थोड़ा कर्ज माफ कीजिए, लेकिन वित्त मंत्री कहते हैं नहीं किसानों का कर्जा माफ नहीं होगा.

प्रधानमंत्री जी चीन जाते हैं और बिना एजेंडा के चीन के राष्ट्रपति से कहते हैं कि हम यहां डोकलाम की बात नहीं उठायेंगे. ये बिना एजेंडा नहीं था चीन का एजेंडा था. प्रधानमंत्री जी ने गुजरात में नदी के किनारे चीन के राष्ट्रपति के साथ झूला झूला था. उसके बाद चीन का राष्ट्रपति चीन गया और हजार सैनिक डोकलाम में थे.

Back to top button