उत्तर बस्तर कांकेर : जिले के आंगनबाड़ी केन्द्रों में 07 जुलाई से मनाया जाएगा वजन त्यौहार नारा लेखन एवं बैनर-पोस्टर के माध्यम से प्रचार-प्रसार करने के निर्देश

प्रदेश में 05 वर्ष से कम आयु वर्ग के बच्चों में पोषण स्तर के आंकलन करने हेतु समुदाय की सहभागिता सुनिश्चित करने के लिए वजन त्यौहार का आयोजन किया जाता है।

उत्तर बस्तर कांकेर 28 जून 2021 : प्रदेश में 05 वर्ष से कम आयु वर्ग के बच्चों में पोषण स्तर के आंकलन करने हेतु समुदाय की सहभागिता सुनिश्चित करने के लिए वजन त्यौहार का आयोजन किया जाता है। जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला बाल विकास किशन टंडन क्रांति ने बताया कि कोविड-19 के गाईडलाईन का पालन करते हुए जिले के सभी आंगनबाड़ी केन्द्रों में 07 से 16 जुलाई तक वजन त्यौहार मनाया जाएगा।

प्रत्येक परियोजना में 05 वर्ष तक के सभी गंभीर एवं मध्यम कुपोषित बच्चों की नामवार सूची उपलब्ध कराने के लिए परियोजना अधिकारियों को जिला कार्यालय महिला बाल विकास विभाग को निर्देशित किया गया है। प्रत्येक पर्यवेक्षक सेक्टर में 05 से 06 कलस्टर तैयार करने के साथ ही प्रत्येक कलस्टर में अन्य विभाग के अधिकारियों को नोडल अधिकारियों के रूप में नामांकित करने और कलस्टर एवं उनमें वजन त्यौहार आयोजन की तिथि की जानकारी 30 जून तक उपलब्ध कराने के लिए कहा गया है।

वजन त्यौहार

जिला कार्यक्रम अधिकारी ने परियोजना अधिकारियों और सेक्टर सुपरवाईजरों को निर्देशित करते हुए कहा है कि सभी ग्रामों के विभिन्न स्थानों में वजन त्यौहार से संबंधित कम से कम 20 नारे का लेखन करने तथा बैनर, पोस्टर के माध्यम से गांव-गांव में प्रचार-प्रसार कराना सुनिश्चित करें। आंगनबाड़ी केन्द्रों में साल्टर, इलेक्ट्रॉनिक वजन मशीन और बच्चों की वजन का वृद्धि चार्ट की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिये गये हैं।

परियोजना अधिकारियों को निर्देशित करते हुए जिला कार्यक्रम अधिकारी ने कहा कि शून्य से 05 वर्ष के सभी बच्चों का वजन किया जाएगा, जिसमें वजन किये गये बच्चों की संख्या का विगत माह के प्रतिवेदित संख्या से मिलान किया जावे। यदि कोई बच्चा वजन करने से छूट जाता है तो उक्त अवधि में पल्स पोलियो की तर्ज पर घर-घर जाकर बच्चों का वजन लिया जावे। जनपद सीईओ, खण्ड चिकित्सा अधिकारी, खण्ड शिक्षा अधिकारियों के साथ बैठक कर वजन त्यौहार एवं 11 से 18 वर्ष की किशोरी बालिकाओं का हिमोग्लोबिन जॉच तथा उनके वजन के बारे में कार्यक्रम की रूपरेखा तैयार करने के निर्देश परियोजना अधिकारियों को दिये हैं।

सेक्टर सुपरवाईजरों को ग्राम पंचायतों के सरपंच, पंचों एवं नगरीय निकाय के वार्ड पार्षदों से संपर्क एवं चर्चा कर उन्हें जानकारी देने कहा गया है, साथ ही स्वास्थ्य विभाग के पर्यवेक्षकों, एएनएम और मितानिनों को भी शामिल करने और ग्राम या वार्डों में कोटवारों के माध्यम से वजन त्यौहार की मुनादी कराना सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिये गये हैं।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button