पीएनबी ही नहीं इलाहाबाद बैंक के भी 2,000 करोड़ रुपये फंसे, हांगकांग की शाखा से पैसा किया गया था ट्रांसफर, 10 बड़ी बातें

जांच एजेंसियां जहां उनको गिरफ्तार करने के लिए हाथ-पैर मार रही हैं वहीं एनडीटीवी की पड़ताल में पता चला है कि वह न्यूयॉर्क में हो सकता है.

नई दिल्ली: पीएनबी घोटाले के आरोपी नीरव मोदी की तलाश में सीबीआई ने इंटरपोल से मदद मांगी है. नीरव मोदी का देश के सबसे बड़े घोटाले के बाद से अब तक कोई पता नहीं चल पाया है. जांच में पता चला है कि नीरव मोदी ने पीएनबी के अधिकारियों के साथ मिलकर 11,300 करोड़ की गड़बड़ की है.

नीरव मोदी और उनके सहयोगी मेहुल चोकसी का पासपोर्ट निलंबित कर दिया गया है और अगर वह 4 सप्ताह में वापस नहीं आते हैं तो इसे रद्द भी किया जा सकता है. जांच एजेंसियां जहां उनको गिरफ्तार करने के लिए हाथ-पैर मार रही हैं वहीं एनडीटीवी की पड़ताल में पता चला है कि वह न्यूयॉर्क में हो सकता है.

मामले से जुड़ी अहम जानकारियां :

  • सूत्रों के हवाले खबर के नीरव मोदी के ठिकानों पर छापेमारी जारी रहेगी. जब तक पीएनबी से निकाली गई रकम की वसूली नहीं हो जाती है. अभी तक सील गई संपत्ति की कुल कीमत 5,600 करोड़ रुपया है आयकर विभाग ने टैक्स चोरी जांच के सिलसिले में अस्थायी रूप से हीरा कारोबारी और उसके परिवार की 29 संपत्तियां और 105 बैंक खातों को कुर्क किया है.
  • इसके अलावा विभाग ने विदेश में गैरकानूनी संपत्तियां रखने के लिए उसके खिलाफ नए कालाधन रोधक कानून के तहत मामला भी दर्ज किया है. समझा जाता है कि उसकी यह संपत्ति सिंगापुर में है. कालाधन (अघोषित विदेशी आय एवं संपत्ति) और करारोपण कानून 2015ए विदेश में गैरकानूनी संपत्तियों से संबंधित है. अभी तक इस तरह के मामलों की जांच आयकर कानून, 1961 के तहत होती थी.
  • नए कानून के तहत अघोषित विदेशी संपत्ति और आय पर 120 प्रतिशत का भारी भरकम जुर्माना लगाने का प्रावधान है. इसमें दस साल जेल की सजा भी हो सकती है.
  • अधिकारियों ने मुंबई में एक विशेष अदालत के समक्ष मोदी के खिलाफ आयकर कानून की धारा 276 सी (1) (जानबूझकर कर चोरी, 277 ए (सत्यापन में गलत बयान) 278 बी (कंपनियों द्वारा अपराध) और 278-ई के तहत मामला दर्ज किया है.
  • सीबीआई ने शुक्रवार को जांच का दायरा बढ़ाते हुए गीतांजलि समूह पर भी छापा मारा है. इसके मालिक नीरव मोदी के चाचा मेहुल चोकसी हैं. एजेंसी ने इस समूह के खिलाफ 4,911.43 करोड़ रुपये की गड़बड़ी का मामला दर्ज किया है.
  • कर अधिकारियों ने नीरव मोदी, उसकी पत्नी एमी और उसकी मुंबई, सूरत, जयपुर और दिल्ली की अचल संपत्तियों पर कुर्की का नोटिस भी चस्पा कर दिया.
  • इस घोटाले का खुलासा 29 जनवरी को हुआ था जब पीएनबी की ओर से मुंबई में तीन कंपनियों और चार लोगों पर मुकदमा दर्ज किया गया था. जिसमें नीरव मोदी और मेहुल चोकसी शामिल थे.
  • पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) द्वारा जारी साख पत्रों के आधार पर हुए 11,400 करोड़ रुपये के घोटाले में इलाहाबाद बैंक का भी करीब 2,000 करोड़ रुपये फंसा है.
  • सूत्रों ने कहा कि इलाहाबाद बैंक ने भी पीएनबी के धोखाधड़ी से जारी गारंटी पत्रों के आधार पर 2,000 करोड़ रुपये का ऋण दिया है. सूत्र ने कहा कि यह पैसा इलाहाबाद बैंक की हांगकांग शाखा से पीएनबी के नोस्ट्रो खाते में स्थानांतरित किया गया. सूत्र ने कहा कि बैंक ने इस पैसे की वसूली के लिए पहले ही दावा कर दिया है.

    पीएनबी घोटाले में नीरव मोदी के बाद दूसरी सबसे बड़ी कड़ी है पीएनबी के रिटायर डिप्टी मैनेजर गोकुलनाथ शेट्टी. गोकुलनाथ शेट्टी पर दूसरे कर्मचारियों की मिलीभगत से फ़र्ज़ी लेटर ऑफ़ अंडरटेकिंग जारी कर नीरव मोदी को फ़ायदा पहुंचाने का आरोप है.

new jindal advt tree advt
Back to top button