नगर पालिका ने राइस मिल को भेजा नोटिस, अधिकारी ने दिया कार्यवाही का आश्वासन

रवि सेन बागबाहरा:

बागबाहरा: नगर के बीचों बीच संचालित शारदा राइसमिल के बारे में मुख्य नगर पालिका अधिकारी सहित राजस्व उप निरीक्षक (नपा.) को जानकारी तक नही है।

हमारे संवाददाता ने आज नगर पालिका बागबाहरा में इस राइसमिल के दस्तावेज के संबंध में जानकारी पूछा तब राजस्व उप निरीक्षक (नगर पालिका) के द्वारा कहा गया की आज तक लगभग 20 वर्षो से इस राइस मिल द्वारा किसी प्रकार की अनुमति नही ली है

एवम राइसमिल के एनओसी को रिनिवल के लिए कोई आवेदन प्रस्तुत नही किया है ऐसे में शारदा राइसमिल के किसी भी प्रकार के दस्तावेज नगर पालिका में उपलब्ध नही है।

राइसमिल संचालन के ये है नियम:

किसी भी राइसमिल अथवा उद्योग संचालन के लिए पर्यावरण संरक्षण विभाग द्वारा अनापत्ति प्रमाण पत्र (एनओसी) जारी किया जाता है। उस अनापत्ति प्रमाणपत्र की छायाप्रति संबंधित ग्राम पंचायत, नगर पंचायत, नगर पालिका या नगर निगम में जमा किया जाता है एवम प्रत्येक वर्ष उस अनापत्ति प्रमाण पत्र को रिनिवल कराया जाता है। संबंधित छेत्र अधिकारी के आदेश के बाद ही राइसमिल या उद्योग संचालित हो सकता है।

नगर के बीचोबीच संचालित शारदा राइसमिल के दूषित धुंए, काले राखड़ एवम उसना पानी से वार्ड वासी अरसों से परेशान है। इन प्रदूषित पानी एवम काले राखड़ की वजह से लोगो मे तरह तरह की बीमारिया हो रही है।
खबर के बाद जागा नपा. प्रशासन

वार्डवासियों की इस समस्या को प्रमुखता से समाचार पत्रों में प्रकाशित करने के बाद आज नगर पालिका प्रशासन की नींद खुली और शारदा राइसमिल को बफई पानी एवम काले राखड़ की समुचित व्यवस्था करने के लिए नोटिस जारी किया गया है।

शारदा राइसमिल के राखड़ ,डस्ट एवम बफई पानी की शिकायत मिल रही थी । आज मेरे द्वारा मामले को संज्ञान में लेकर राइसमिल को नोटिस जारी कर जिला कलेक्टर ,पर्यावरण संरक्षण विभाग एवम एस.डी.एम. बागबाहरा को भी जानकारी भेज दिया है । इनके मार्गदर्शन पर तुरंत कार्यवाही करेंगे ।
राजेश तिवारी (मुख्य नगर पालिका अधिकारी):

1
Back to top button