अब वैक्सीननेशन का काम बिना बहानेबाजी के तेज़ी से पूरा करना प्रदेश सरकार की ज़िम्मेदारी : भाजपा

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष साय ने हैरत जताई- एडवर्स इफ़ेक्ट के ऑब्ज़र्वेशन की व्यवस्था चरमराई और टीकाकरण केंद्र अब पशुओं का डेरा बन रहे हैं!

अपनी अकर्मण्यता के जगज़ाहिर होने पर मुँह ढँककर प्रलाप करने से साफ है कि अब खंभा नोचना ही कांग्रेस और प्रदेश सरकार की नियति हो गई है

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा है कि कोविड वैक्सीनेशन का पूरा ज़िम्मा केंद्र सरकार द्वारा उठाने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की घोषणा के बाद प्रदेश सरकार और कांग्रेस के लोग अपनी अकर्मण्यता के जगज़ाहिर होने पर जिस तरह मुँह ढँककर प्रलाप कर रहे हैं, उससे साफ हो चला है कि अब खंभा नोचना ही कांग्रेस और प्रदेश सरकार की नियति है। श्री साय ने कहा कि अब प्रदेश सरकार की यह ज़िम्मेदारी होगी कि प्रदेश में वैक्सीननेशन का काम पूरा हो और तेज़ी से हो। अब किसी तरह की बहानेबाजी प्रदेश सरकार की नहीं चलेगी।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री साय ने कहा कि वैक्सीन को लेकर देशभर में छत्तीसगढ़ की सबसे ज़्यादा किरकिरी हुई है। वैक्सीन को लेकर शुरू से ही प्रदेश सरकार झूठ और भ्रम फैलाने में लगी रही और उसी का यह दुष्परिणाम है कि प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में अफ़वाहों के चलते लोग वैक्सीनेशन से कतरा रहे हैं। प्रदेश सरकार को इस दिसा में ठोस पहल करके जागरुकता शिविरों के जरिए टीकाकरण के लिए प्रेरित करना था, लेकिन प्रदेश सरकार इसमें भी विफल ही साबित हुई। श्री साय ने कहा कि कोरोना वैक्सीनेशन का ज़िम्मा केंद्र द्वारा वापस लिए जाने के बाद प्रदेश की नाकारा सरकार का वैक्सीन की उपलब्धता पर सवाल उठाना दरअसल उसकी खिसियाहट का परिचायक है, क्योंकि वैक्सीन को लेकर गंदी राजनीति खेल रही कांग्रेस को अब अपनी क़ाबिलियत दिखानी पड़ेगी।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री साय ने कहा कि छत्तीसगढ़ में टीकाकरण में भी राजनीति करने के साथ-साथ तुष्टिकरण का जरीया बनाने की घिनौनी राजनीति में लगी प्रदेश सरकार न तो कोरोना की रोकथाम को लेकर कभी संज़ीदा रही, न वैक्सीनेशन को तेज़ी से पूरा करने के प्रति गंभीर दिख रही है। श्री साय ने कहा कि वैक्सीनेशन में अड़ंगा डालकर इसे विफल करने की साजिश रचने वाली प्रदेश की कांग्रेस सरकार को इस बात पर भी शर्म महसूस नहीं हो रही है कि वैक्सी चोरी के मामले में भी छत्तीसगढ़ देश का पहला और इकलौता राज्य है। पंजाब में कांग्रेस सरकार निजी अस्पतालों को वैक्सीन बेचकर मुनाफा कमाने में लगी थी तो राजस्थान की कांग्रेस सरकार वैक्सीन ज़मीन में गाड़कर बर्बाद करने पर आमादा थी।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री साय ने कहा कि वैक्सीनेशन में विफल रही प्रदेश सरकार अब तो टीकाकरण केंद्रों में भी पर्याप्त इंतज़ाम तक नहीं कर रही है। टीकाकरण के बाद एडवर्स इफ़ेक्ट के ऑब्ज़र्वेशन के लिए इन केंद्रें में कोई डॉक्टर तक मौज़ूद नहीं रहते। टीकीकरण के बाद 30 मिनट तक ऑब्ज़र्वेशन के लिए केंद्रें में बिठाया जाना होता है, लेकिन वहाँ ऐसी कोई पुख़्ता व्यवस्था नहीं है। श्री साय ने कहा कि टीकाकरण केंद्र तो अब पशुओं का डेरा बनते जा रहे हैं, जो यह साबित करता है कि प्रदेश सरकार कोरोना की रोकथाम और वैक्सीनेशन के मोर्चे पर पूरी तरह लापरवाह है और सियासी नौटंकियों, दारू की कोचियागिरी और केंद्र सरकार के ख़िलाफ़ टूल-किट एजेंडे के मुताबिक़ अनर्गल प्रलाप ही उसका राजनीतिक चरित्र हो गया है।

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button