उत्तर प्रदेशबड़ी खबरराज्यराष्ट्रीय

अब उत्‍तर प्रदेश, राजस्‍थान और हरियाणा में टिड्डी दल घुसा, फसलें तबाह, किसानों की नींद उड़ी

आजमगढ़ से अंबेडकरनगर में प्रवेश कर चुके टिड्डी दल ने गन्ना किसानों की नींद उड़ा दी है।

Tiddi Dal Attack :

अभी टिड्डी दल का खतरा टला नहीं है। अब टिड्डी दल उत्‍तर प्रदेश, राजस्‍थान और हरियाणा में घुस आया है और फसलों को तबाह कर रहा है। पाकिस्तान के रास्ते देश में दाखिल हुआ टिड्डी दल अब उप्र में फैल रहा है। आजमगढ़ से अंबेडकरनगर में प्रवेश कर चुके टिड्डी दल ने गन्ना किसानों की नींद उड़ा दी है।

अजमलपुर, पलया (रतना), नसीराबाद, खानपुर हुसेनाबाद, नूरपुर कलां, खालिसपुर, अमदही, आशापार समेत कई गांव में पिछले दो दिनों से फसलों पर टिड्डी दल के प्रकोप से जूझ रहे हैं। किसानों की सूचना पर पहुंची कृषि विभाग की टीम ने टिड्डियों को ध्वनियंत्रों के माध्यमों से भगाने का प्रयास किया। कृषि रक्षा पर्यवेक्षक डॉ. जेपी सिह ने बताया टिड्डी दल गन्ने की फसल प्रभावित कर रहा है, टीम इन्हें भगाने में काफी हद तक सफल हुई है।

महेंद्रगढ़ और रेवाड़ी जिलों में फसलों को बर्बाद

राजस्थान की तरफ से आए टिड्डी दल ने हरियाणा के महेंद्रगढ़ और रेवाड़ी जिलों में फसलों को बर्बाद कर दिया। लाखों की तादाद में पहुंची टिड्डियां जिस भी खेत में बैठीं, वहां की फसल बर्बाद कर दी। देर शाम तक प्रशासन इससे निपटने में जुटा हुआ था। शुक्रवार को राजस्थान सीमा से सटे महेंद्रगढ़ जिले के गांव सिघाना के आसपास टिड्डियों का झुंड दिखते ही किसान और प्रशासन अलर्ट हो गया। टिड्डी दल सिघाना से आगे बढ़ता हुआ कई गांवों में होता हुआ रेवाड़ी की ओर बढ़ा।

बाजरा और कपास की फसलों को नुकसान

कई गांवों में इस दल ने बाजरा और कपास की फसलों को नुकसान पहुंचाया। हालांकि ग्रामीणों ने थाली, ढोल और नंगाड़े आदि बजाकर उनको आगे भगाया। देर शाम करीब छह बजे यह टिड्डी दल रेवाड़ी जिले में गांव नांगल जमालपुर की ओर से प्रवेश कर गया। इसके बाद अहरोद, बासदूधा, ढाणी शोभा, कोलाना, खोल, बलवाड़ी, मायण, खालेटा, धवाना व सीहा आदि गांवों से होते हुए आगे बढ़ता रहा। इस दौरान खेतों में बाजरा, कपास व सौंठ आदि को नुकसान पहुंचाया।

दवा का छिड़काव

महेंद्रगढ़ जिला में प्रवेश करते ही रेवाड़ी जिला प्रशासन भी अलर्ट मोड पर आ गया था। सभी अधिकारियों को निगरानी में तैनात कर दिया गया था। उपायुक्त यशेंद्र सिह खुद खोल खंड के विभिन्न गांवों में स्थिति का निरीक्षण करने के लिए पहुंचे थे। कृषि विभाग की ओर से देर रात कई स्थानों पर टिड्डी दल को भगाने और मारने के लिए दवा का छिड़काव भी किया गया।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button