अब पूरी तरह से मुफ्त कॉलिंग की सुविधा बंद करने जा रही है रिलायंस जियो

10 अक्टूबर से बंद होंगे फ्री कॉलिंग सर्विस

नई दिल्ली:भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण ने एक टेलिकॉम नेटवर्क से दूसरे नेटवर्क पर कॉलिंग के लिए शुल्क तय कर दी है. फिलहाल जियो इस शुल्क को खुद ही अदा कर रही थी, लेकिन अब कंपनी ने यह बोझ उपभोक्ताओं पर डालने का फैसला लिया है.

ट्राई की ओर से लगाए जाने वाले इस शुल्क को IUC कहते हैं. उदाहरण के तौर पर अगर जियो उपभोक्ता किसी एयरटेल के नंबर पर कॉल करते हैं तो जियो को एयरटेल को ट्राई की ओर से तय आईसीयू चुकाना पड़ता है. ठीकी इसी तरह जब एयरटेल उपभोक्ता जियो पर कॉल करेगा तो एयरटेल को जियो को ICU चुकाना पड़ता है.

रिलायंस जियो ने फैसला लिया है कि अगर कोई जियो उपभोक्ता किसी दूसरे नेटवर्क पर कॉल करता है तो उसे पैसे खर्च करने होंगे. हालांकि जियो टू जियो कॉलिंग की फ्री सर्विस जारी रहेगी.

जियो की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि जियो उपभोक्ताओं को दूसरे नेटवर्क पर कॉल करने के एवज में प्रति मिनट 6 पैसे खर्च करने होंगे. फ्री कॉलिंग सर्विस 10 अक्टूबर से बंद होंगे.

यहां आपको बता दें कि मौजूदा वक्त में जियो के सारे प्लान में केवल इंटरनेट डाटा के पैसे लगते हैं. कॉलिंग और मैसेज सर्विस पूरी तरह फ्री होते हैं. अब कंपनी ने फ्री कॉलिंग सर्विस को सिमित करने का फैसला लिया है.

पहले चरण में दूसरे नेटवर्क पर कॉल करने का चार्ज लगाया गया है. यानी अब जियो उपभोक्ताओं को दूसरे नेटवर्क पर कॉल करने के लिए अलग से IUC (इंटरकनेक्ट यूजेस चार्ज) टॉप-अप रीचार्ज कराना होगा.

Back to top button