अब सिर्फ लिखित परीक्षा के आधार पर किया जाएगा पीएससी में सलेक्शन

राज्य के मुख्यमंत्री वाईएस जगनमोहन रेड्डी ने लिया यह फैसला

रायपुर: आंध्र प्रदेश लोक सेवा आयोग भर्ती प्रक्रिया से इंटरव्यू को खत्म कर दिया गया है। राज्य के मुख्यमंत्री वाईएस जगनमोहन रेड्डी ने गुरुवार को आयोग के अधिकारियों के साथ हुई समीक्षा बैठक में यह फैसला लिया है। यह बड़ा बदलाव है, जो एक जनवरी 2020 से आयोग द्वारा की जाने वाली सभी भर्ती प्रक्रियाओं में लागू होगा।

लिखित परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन के बावजूद कई छात्र इंटरव्यू में में सफल नहीं हो पाते थे। लेकिन अब लोक सेवा आयोग द्वारा की जाने वाली भर्तियों की तैयारी कर रहे उम्मीदवारों के लिए अच्छी खबर आई है। आंध्र प्रदेश लोक सेवा आयोग की भर्तियों के लिए अब इंटरव्यू नहीं देना पड़ेगा।

यानी अब आंध्र प्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा होने वाली सभी भर्तियां सिर्फ लिखित परीक्षाओं के आधार पर की जाएंगी। ऐसा शायद पहली बार होगा जब किसी लोक सेवा आयोग द्वारा बिना इंटरव्यू के, सिर्फ लिखित परीक्षा के आधार पर ही अभ्यर्थियों को नौकरी मिलेगी।

आंध्र प्रदेश सरकार के इस फैसले की तारीफ भी हो रही है और विरोध भी। जो लोग इंटरव्यू व्यवस्था बरकरार रखना चाहते हैं, उनका कहना है कि इसे खत्म करने से अभ्यर्थियों की वास्तविक क्षमता को परखा नहीं जा सकेगा। वहीं, जो लोग सरकार के इस फैसले का समर्थन कर रहे हैं, उनका कहना है कि इससे भर्ती प्रक्रिया में भ्रष्टाचार और भाई-भतीजावाद की प्रथा खत्म होगी।

हालांकि मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी ने आंध्र प्रदेश लोक सेवा आयोग के अधिकारियों से कहा है कि भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) और भारतीय प्रबंधन संस्थान (IIM) से से परीक्षा के आयोजन में मदद लें। ताकि किसी तरह की गड़बड़ी रहने की गुंजाइश न हो। लिखित परीक्षा की पूरी प्रक्रिया पारदर्शी हो।

Back to top button