अब छग में नहीं चलेंगे सिंगल यूज प्लास्टिक उद्योग

छत्तीसगढ़ में अब सिंगल यूज प्लास्टिक बनाने वाले उद्योगों पर ताले लग जाएंगे। वजह यह है कि पर्यावरण संरक्षण मंडल इस कैटेगरी के नए उद्योगों के स्थापना की अनुमति नहीं दे रहा है।

रायपुर। छत्तीसगढ़ में अब सिंगल यूज प्लास्टिक बनाने वाले उद्योगों पर ताले लग जाएंगे। वजह यह है कि पर्यावरण संरक्षण मंडल इस कैटेगरी के नए उद्योगों के स्थापना की अनुमति नहीं दे रहा है। इतना ही नहीं सिंगल यूज प्लास्टिक बनाने वाली कंपनियों के लाइसेंस का नवीनीकरण भी रोक दिया गया है। राज्य में इस तरह के सभी प्लास्टिक के उपयोग को भी हतोत्साहित किया जा रहा है।

प्लास्टिक अपशिष्ठ प्रबंधन की राज्य स्तरीय सलाहकार समिति की बैठक में यह जानकारी पर्यावरण संरक्षण मंडल की तरफ से दी गई है। यह बैठक नगरीय प्रशासन विभाग की सचिव अलरमेलमंगई डी की अध्यक्षता में बीते दिनों हुई थी। बैठक के दौरान राज्य में सिंगल यूज प्लास्टिक पर रोक नहीं लगाए जाने का भी मुद्दा उठा। बताया जा रहा है पर्यावरण मंडल की तरफ से इस मामले में सरकार से क्लियरिफिकेशन जारी करने का आग्रह किया गया।

बैठक के दौरान प्लास्टिक के सड़क निर्माण उपयोग से हानिकारक गैस निकलने की भी बात उठी। बैठक में विशेष आमंत्रित सदस्य के रूप में उपस्थित डॉ. समीर वाजपेयी ने जानकारी दी कि निश्चित टेंप्रेचर रेंज में ही हानिकारक गैस निकलती हैं। सड़क निर्माण में प्लास्टिक के उपयोग की प्रक्रिया केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से अनुमोदित है, इस वजह से समिति ने राज्य में भी इसे जारी रखने का निर्णय लिया है।

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
Back to top button