अब जय श्री राम और भारत माता की जय बोलना भी गुनाह

भरत मंगवानी ब्यूरो बिलासपुर:
बिलासपुर:आखिर क्या कारण था कि कल बिलासपुर की भीम सेना ने रैली निकाली थी दुकानदारों को जबरन दबाव पूर्वक बन्द कराया जा रहा था सिम्स के सामने बुजुर्ग दुकानदार से भीम सेना रैली के लोगो मे गुंडागर्दी मारपीट की दुकान का सामान फेंका,

गोलबाजार में भी कुछ ऐसी ही स्थिति थी उस समय तक पुलिस मुक़दर्शक बनी रही पुलिस ने उन पर कोई दबाव नही बनाया ना ही उन्हें ऐसा करने से रोका ये बात हिंदूवादी संगठन और कुछ हिन्दू समाज के युवाओं को नागवार गुजरी उन्होंने दुकानदारों का समर्थन किया और कहा कि कोई भी जबरन गुंडागर्दी से दुकान बंद कराए दुकान बंद मत करना दुकान बन्द करना आपके स्वयम विवेक पर है

हिन्दू संगठन के युवा जय श्री राम और भारत माता की जय के नारे लगाते हुए तेलीपारा पहुचे तो पुलिस ने उन्हें रोक लिया उसी समय भीम सेना के 500 से अधिक रैली में उपस्थित लोगों ने पुलिस के साथ हाथापाई की कोशिश करते हुए कानून हाथ मे लेते हुए हिन्दू युवा समाज के युवकों को दौड़ा कर मारपीट पर उतारू हो गए

एक युवक को 500 की भीड़ ने मारा पर उन भीम सेना वालो की गुंडागर्दी पर पुलिस मौन रही उल्टा जय श्री राम और भारत माता की जय के नारे लगाने वाले और दुकानदारों के हितैषी करन गोयल ,करण सिंह ,प्रमोद सिंह सहित कुछ लोगो पर सिटी कोतवाली थाने में धारा 151 के तहत मामला दर्ज कर दिया,

आखिर अब ऐसा माना जाए कि छत्तीसगढ़ में जय श्री राम भारत माता की जय और दुकानदारों का हित सोचना गुनाह हो गया है आखिर उन पर कोई कार्यवाही अभी तक क्यों नही हुई जिन्होंने 500 की भीड़ में मारपीट गाली गलौच गुंडागर्दी की क्या कानून उनके लिए नही है या कानून उनके लिए मौन है.

Tags
Back to top button