अब बॉर्डर पर नहीं जाएगी मासूमो की जान,LoC पर जल्द बनेंगे 2000 नए बंकर

सरकार ने पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर 1320 निजी और 680 सामुदायिक बंकर बनाने का प्रस्ताव रखा है.

पाकिस्तान द्वारा अक्सर सीजफायर का उल्लंघन करने से होने वाले जानमाल के नुकसान को कम करने के लिए सरकार ने बड़ा कदम उठाया है. जानकारी के मुताबिक जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा (LoC) और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तानी गोलाबारी के खतरे से जूझ रहे लोगों की सुरक्षा के लिए 2000 सामुदायिक और व्यक्तिगत बंकर बनाने का फैसला जल्द लिया जा सकता हैय अधिकारियों और सरकार के बीच इसे लेकर हाई लेवल बैठक बुलाई गई, जिसमें जल्द से जल्द 2000 नए बंकर बनाए जाने का प्रस्ताव रखा गया.

पाकिस्तान की नापाक हरकत से स्थानीय लोगों को महफूज रखने के लिए सरकार जल्द से जल्द 2000 नए बंकर बनाने को मंजूरी दे सकती है. रमजान के पाक महीने में भी पाकिस्तान ने सीजफायर का उल्लंघन करते हुए कई बार फायरिंग की.

इसी को देखते हुए सरकार ने पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर 1320 निजी और 680 सामुदायिक बंकर बनाने का प्रस्ताव रखा है. यह जानकारी समाचार एजेंसी एएनआई ने दी है.

आंकड़ों की मानें तो इस साल पाकिस्तानी रेंजर्स ने हर दिन भारतीय सीमा पर लगभग दो से तीन बार फायरिंग कर निर्दोष लोगों को अपनी गोलियों का निशाना बनाया है. आलम यह है कि इस साल बीते 172 दिनों में पाक रेंजर्स ने भारतीय सीमा पर कुल 516 बार गोलीबारी की है.

इस लिहाजा से पाकिस्‍तान ने हर दिन करीब तीन बार भात-पाक सीमा से सटे गांवों और बीएसएफ के बार्डर ऑउट पोस्‍ट (बीओपी) को निशाना बनाकर गोलीबारी करता है. पाकिस्तान के इस नापाक करतूत से निर्दोष लोगों को बचाने के लिए सरकार की तरफ से यह बड़ा फैसला लिया गया है

.

वहीं, दूसरी तरफ देश में आतंकी हमले में भी कमी आती नहीं दिख रही है. रविवार को कुलगाम जिले में गश्त पर निकली सेना की एक टुकड़ी पर आतंकियों ने हमला कर दिया.

सेना और आतंकियों के बीच हुए इस मुठभेड़ में सेना ने दो आतंकियों को ढेर कर दिया. साथ ही एक आतंकी ने सरेंडर कर दिया. कई घंटे चली मुठभेड़ के बाद सेना को यह कामयाबी हासिल हुई है. मारे गए आतंकी लश्कर-ए-तैयबा के बताए जा रहे हैं. अचानक हुए इस हमले में सेना के कुछ जवान भी घायल हो गए.

Back to top button